Share this Post:
Font Size   16

पुण्यतिथि: जब विनोद खन्ना ने भगाया था पत्रकार को डांट कर, अरे यार, तू मजाक भी नहीं समझता....

Friday, 27 April, 2018

नीरज नैयर

युवा पत्रकार ।।

जब विनोद खन्ना ने घूरते हुए कहा था टीवी पर कोई इंटरव्यू नहीं

70 के दशक में एक गोरा-चिट्टा, सात फुट लंबा नौजवान रुपहले पर्दे पर नजर आया और देखते ही देखते लोग उसके दीवाने हो गए। वो नौजवान था विनोद खन्ना। कद-काठी, रूप-रंग, मोहक मुस्कान और गज़ब की अदाकारी के चलते महज थोड़े से वक़्त में ही विनोद खन्ना की गिनती उस वक़्त के ही-मैन धर्मेन्द्र, दिलकश राजेश खन्ना और खूबसूरत शशिकपूर से होने लगी थी। 1968 में अपनी पहली फिल्म मन का मीतकी रिलीज़ के साथ ही विनोद खन्ना के पीछे निर्माताओं की कतार लग गई थी। उन्होंने एक ही हफ्ते में 15 फिल्म साइन की थीं। फिल्मों के बाद विनोद खन्ना राजनीति में आये और भाजपा की टिकट पर सांसद बने। पिछले साल 27 अप्रैल को वह हमसब को छोड़कर दुनिया से रुखसत हो गए थे। उनके निधन पर दैनिक जागरण के एंटरटेनमेंट और फिल्म हेड और बतौर एसोसिएट एडिटर कार्यरत अनुज अलंकार ने उनसे जुड़े कुछ बेहद रोचक किस्सों को शब्दों में पिरोया था। यहां हम उन्हीं किस्सों को पेश कर रहे हैं, जो बताते हैं कि विनोद खन्ना कितने जिंदादिल और मजाकिया इंसान थे। 

बात एक दिसंबर 1988 की है। विनोद खन्ना के घर की घंटी बजती है। फ़ोन उठने पर पत्रकार बोलता है कि विनोद जी से एक इंटरव्यू के लिए बात करनी है।.जवाब मिलता है। विनोद जी तो अमेरिका चले गए कल रात.. एक महीने बाद लौटेंगे। इस पर पत्रकार कहता है। सर, इंटरव्यू नहीं देना तो कोई बात नहीं, लेकिन नौकर तो मत बनिए।  आपकी आवाज को तो हजारों-लाखों में पहचाना जाता है। इस पर फ़ोन के दूसरी तरफ से जोरदार हंसी सुनाई देती है और फोन कट जाता है।

अप्रैल, 1990 में फिल्म 'फरिश्ते' के सेट पर जैसे ही पत्रकार विनोद खन्ना-धर्मेंद्र के मेकअप रूम में दाखिल होता है आवाज़ आती है। बोलो, क्या चाहिए? पत्रकार कहता है कैमरे पर आप दोनों का इंटरव्यू लेना है। विनोद खन्ना घूरते हुए कहते हैं टीवी पर कोई इंटरव्यू नहीं। इस पर पत्रकार का जवाब आता है कि सर सत्ती मैडम ने कहा था आने को। चंद मिनट की ख़ामोशी के बाद विनोद खन्ना बोलते हैं। तो उनका ही इंटरव्यू कर ले ना.. भाग यहां से। इसी बीच सत्ती शौरी आ जाती हैं और पत्रकार से पूछती हैं- क्या हुआ बेटा- इंटरव्यू हो गया। पत्रकार कहता है.. नहीं जी, दोनों ने मना कर दिया और डांटकर भगा दिया। सत्ती शौरी पत्रकार को लेकर मेकअप रूम में दाखिल होती हैं और कहती हैं। धरम जी, विनोद जी, उस जर्नलिस्ट को मैंने बुलाया है। आप दोनों के इंटरव्यू के लिए। पांच मिनट में बाहर आइए.. तीन मिनट बाद गर्दन लटकाए विनोद खन्ना और धर्मेंद्र मेकअप रूम से बाहर आते हैं। विनोद खन्ना कहते हैं। अरे यार, तू मजाक भी नहीं समझता। हम क्यों मना करेंगे. जब तक चाहे इंटरव्यू कर… (फिर घूर कर).. कोई पर्सनल सवाल मत करना प्यारे लगभग 20 मिनट का इंटरव्यू होने के बाद मेकअप रूम से विनोद खन्ना-धर्मेंद्र पत्रकार को बुलाते हैं और कहते हैं। अगर कुछ भी उल्टा-सीधा दिखाया, तो देखना फिरमुस्कुराते हुए शरारती भरे अंदाज़ में विनोद खन्ना बोलते हैं। भाई, प्रडयूसर को कंप्लेन भी करता है हमारी…  थैंक यू। इस बीच धर्मेन्द्र की आवाज़ आती है पैग लेना है तो बोल…. फिर दोनों जोर से हंसने लगते हैं।

मुंबई के अंधेरी स्टेशन के पास फिल्म रिस्क की शूटिंग चल रही थी। पत्रकार दो घंटे से विनोद खन्ना के इंटरव्यू का इंतजार कर रहा था। विनोद खन्ना आते हैं और बोलते हैं कि मुझे अभी निकलना है। गीताजंलि (उनकी पहली पत्नी) अस्पताल में भर्ती है। इंटरव्यू फिर कभीइतना कहते ही वह तेजी से अपनी कार की तरफ बढ़ जाते हैं। फिर अचानक पलटते हैं और  इंतजार करने वाले पत्रकार को बुलाते हैं। कुछ देर सोचने के बाद कहते हैं। सॉरी.. तुम भी तो यहां काम से ही आए हो। ऐसे वापस जाओगे, तो अच्छा नहीं लगेगाएक काम करो, कार में साथ चलो, रास्ते में बातचीत हो जाएगी.. कोई परेशानी तो नहींइसके बाद कार में अंधेरी से दादर तक के बीच सवाल-जवाबों का दौर। इसमें आखिरी सवाल था कभी रिटायरमेंट की सोचते हैं? जिस पर विनोद खन्ना ने हंसते हुए कहा था। जब जिंदगी रिटायर करेगी, तभी रिटायर होंगे।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



Copyright © 2018 samachar4media.com