Share this Post:
Font Size   16

अखबारों में ऐड देकर वॉट्सऐप ने यूजर्स को दी ये जानकारी...

Wednesday, 11 July, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

देश में सोशल मीडिया के जरिए लगातार फैलाए जा रहे अफवाहों के बाद जब सरकार ने इसे लेकर सख्ती दिखाई, तो वॉट्सऐप भी हरकत में आया और इस कवायद के तहत उसने देश के कई अखबारों में एक विज्ञापन जारी किया है। इसमें यूजर्स को फर्जी खबरों और अफवाह फैलाने वाले मेसेज पहचानने के 10 टिप्स बताए हैं। आइए जानते हैं फर्जी मेसेज से लड़ने वाले वॉट्सऐप के इन टिप्स के बारे में-

1.  फॉरवर्ड मेसेज को पहचानें :

सप्ताह की शुरुआत में ही वॉट्सऐप ने फॉरवर्ड मैसेज का फीचर जारी किया है जिससे पता लगा सकते हैं कि वह मैसेज फॉरवर्ड किया जा रहा है, जब भी आपको फॉरवर्ड मैसेज प्राप्त होता है। तो आप उसके तथ्यों की जांच करें।

2.    मैसेज पर सवाल उठाएं :

यदि आप वॉट्सऐप फॉरवर्ड में कुछ ऐसा पढ़ते हैं जिससे आपको क्रोध आता है या डर लगता है, तो यह जानने की कोशिश करें कि क्या उस संदेश का उद्देश्य आपके मन में ऐसी ही भावनाओं को जगाना था? अगर जवाब हां है तो आप उसे दूसरों के साथ साझा न करें और न ही फॉरवर्ड करें।

3.    ऐसे मैसेज की जांच करें जिस पर यकीन करना मुश्किल हो :

कई बार ऐसे मैसेज भी आते हैं जिस पर यकीन करना थोड़ा मुश्किल होता है, ऐसे मैसेज अक्सर सच नहीं होते। ऐसे में आप किसी अन्य स्रोत से पता लगाएं कि उस मैसेज में कितनी सच्चाई है।

4.  अलग दिखने वाले मैसेज से बचें :

कई बार ऐसे मैसेज आपको मिलते हैं जिनमें वर्तनी की गलती होती है। ऐसे अधिकांश मैसेज फर्जी और झूठे होते हैं। ऐसे मैसेज को तुरंत डिलीट करें और किसी को ना भेजें।

5.  फोटो की जांच करें :

जब आपको वॉट्सऐप पर कोई फोटो और विडियो प्राप्त होता है तो उसकी जांच करें और उसे ध्यान से देखें। अक्सर फोटो और विडियो को एडिट करके भेजा जाता है।

6.  लिंक की भी जांच करें :

ऐसा लग सकता है कि संदेश में मौजूद लिंक किसी परिचित या जानी-मानी साइट का है, लेकिन अगर उसमें गलत वर्तनी या विचित्र वर्ण मौजूद है तो संभव है कि कुछ गलत जरूर है।

7.  अन्य सोर्स का प्रयोग करें :

किसी भी खबर की जांच करने के लिए किसी अन्य समाचार साइट की मदद लें या टीवी से उसकी जांच करें। अगर उस घटना के बारे में कई जगहों पर लिखा गया है तो वह सच हो सकती है।

8.  बिना समझे मैसेज आगे ना भेजें :

किसी भी मैसेज को आगे भेजने से पहले एक बार जरूर सोचें कि उसमें दी गई जानकारी सही या गलत।

9.  नापसंद वाले नंबर और ग्रुप को ब्लॉक कर दें :

अगर आपको लगता है कि किसी नंबर से उल्टे-सीधे मैसेज मिल रहे हैं तो आप उसे ब्लॉक कर दें। इसके अलावा अफवाह फैलाने वाले ग्रुप को भी आप छोड़ सकते हैं।

      झूठी खबरें अक्सर फैलती हैं :

आप इस पर ध्यान न दें कि आपने संदेश को कितनी बार प्राप्त किया है। सिर्फ इसलिए कि संदेश कई बार साझा किया गया है, इसका मतलब यह नहीं है कि वह खबर सच्ची हो।   

 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com