Share this Post:
Font Size   16

बरखा दत्त ने विदेश मंत्री के कदम को सराहा, लेकिन उठाए सवाल...

Published At: Tuesday, 03 July, 2018 Last Modified: Tuesday, 03 July, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।


वरिष्ठ पत्रकार और लेखिका बरखा दत्त सोशल मीडिया पर ट्रोल को सबक सिखाने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा उठाए गए कदम से काफी प्रभावित हैं। हालांकि विदेश मंत्री की तारीफ करने के साथ-साथ उन्होंने यह सवाल भी उठाया है कि आखिर मोदी कैबिनेट के बाकी मंत्री इस संवेदनशील मुद्दे पर खामोश क्यों हैं?


दरअसल, तन्वी सेठ पासपोर्ट मामले में जिस तरह से विदेश मंत्रालय ने हरकत में आते हुए तन्वी और उनके पति को आनन फानन में पासपोर्ट इशू करवाया उसे लेकर सोशल मीडिया पर विदेशमंत्री सुषमा स्वराज के खिलाफ लोगों में गुस्सा था। ये गुस्सा तब और बढ़ गया जब तन्वी सेठ का झूठ सबके सामने आया। ट्रोल ने विदेशमंत्री को न केवल निशाना बनाया बल्कि उनके लिए अभद्र भाषा का भी इस्तेमाल किया। इसी के मद्देनजर सुषमा स्वराज ने टि्वटर पर एक सर्वेक्षण शुरू किया, जिसमें उन्होंने सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालों से पूछा कि क्या वे इस तरह की 'ट्रोलिंगको स्वीकृति देते हैं? 24 घंटे तक चले इस सर्वेक्षण में 1 लाख 24 हजार 305 लोगों ने हिस्सा लिया। इसमें 57 प्रतिशत लोगों ने सुषमा का समर्थन किया तो 43 प्रतिशत लोगों ने ट्रोल्स का समर्थन किया।


जैसे ही सुषमा स्वराज ने ट्वीट करके इस सर्वेक्षण के बारे में बताया, बरखा दत्त ने तुरंत उस पर अपनी खुशी बयां कर दी। बरखा ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘मैं इस बात से बेहद खुश हूं कि विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने सोशल मीडिया पर ट्रोल के मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए कदम आगे बढ़ाया, लेकिन उनके कैबिनेट सहयोगी खासकर महिला मंत्री, सोशल मीडिया पर हो रहीं लैंगिकवादी और साम्प्रदायिक टिप्पणियों पर खामोश क्यों हैं? बरखा के इस ट्वीट को करीब 900 लोगों ने रीट्वीट किया है और करीब 3000 लोगों ने लाइक किया है।


बरखा दत्त ने इस ट्वीट में अपने एक लेख का लिंक भी दिया है, जो उन्होंने वॉशिंगटन पोस्ट के लिए लिखा है। 25 जून के इस लेख में उन्होंने सोशल मीडिया पर होने वाली 'ट्रोलिंगका जिक्र किया है। बरखा के इस आर्टिकल की हैडलाइन हैं, 'राइट-विंग ट्रोल से अगर भारत की विदेशमंत्री ही सुरक्षित नहीं है, तो कौन है'? जब सुषमा स्वराज के लिए ट्रोल द्वारा अपशब्द इस्तेमाल किये जा रहे थे तब भी बरखा ने अपने ट्वीट में ऐसे लोगों पर लगाम लगाने की बातें कहीं थीं।


बरखा दत्त का पूरा लेख नीचे दिए हेडिंग पर क्लिक कर पढ़ सकते हैं-


If even India’s foreign minister isn’t safe from right-wing trolls,who is?



 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com