Share this Post:
Font Size   16

सोशल मीडिया पर घिरे राहुल कंवल ने ऐसे दिया जवाब, लोग बोले-राहुल कमल...

Published At: Thursday, 06 September, 2018 Last Modified: Thursday, 20 September, 2018

समाचार4मीडिया ब्‍यूरो।।

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को लेकर सोशल मीडिया पर निशाना बनाये जाने के बाद 'इंडिया टुडे' समूह के न्यूज डायरेक्टर राहुल कंवल ने अपने अंदाज़ में आलोचकों को जवाब दिया है। उन्होंने अपने शो ‘न्यूज़रूम’ में इस मुद्दे को गंभीरता से उठाते हुए सरकार पर सवाल भी दागे हैं। 

दरअसल,तेल के दामों में बीते कुछ दिनों से लग रही आग से झुलसी जनता ऐसे पत्रकारों को भी कठघरे में खड़ा कर रही है, जिन्होंने पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में ईंधन के दामों में इजाफे का पुरजोर विरोध किया था।

सोशल मीडिया पर राहुल को घेरने की शुरुआत आम आदमी पार्टी नेता अंकित लाल ने की. अंकित ने राहुल का 2012 का एक ट्वीट शेयर करते हुए उनपर तंज कसा, जिसमें उन्होंने पेट्रोल के दाम को लेकर यूपीए सरकार पर कटाक्ष किया था। 23 मई 2012 के अपने ट्वीट में राहुल ने कहा था कि ‘दिल्ली में पेट्रोल 73 रुपए पहुंच गया है, जो बहुत ज्यादा है। इस रेट को देखते हुए मेट्रो में सफ़र करना होगा’। 

अंकित लाल ने इस ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा कि कुछ साल पहले कुछ पत्रकार तेल के बढ़ते दामों को लेकर चिंतित थे, लेकिन अब नहीं हैं। इसके बाद तो यूजर्स ने चारों-तरफ से राहुल कंवल पर हमले किये. किसी ने उन्हें प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह के सामने यह मुद्दा उठाने की चुनौती दी, तो किसी ने उनकी निष्पक्षता पर भी सवाल उठा डाले।

राहुल ने जब ट्विटर पर ही अंकित, को जवाब दिया तो उन्हें और भी ज्यादा निशाना बनाया जाने लगा। लिहाजा वो खामोश हो गए, लेकिन उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफार्म के बजाय मेनस्ट्रीम मीडिया पर अपने शो के ज़रिये यह दर्शाने का प्रयास किया कि वो इस मुद्दे की गंभीरता और जनता से इसके जुड़ाव को समझते हैं। 

राहुल ने ‘न्यूज़रूम’ में न केवल पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स का गणित समझाया, बल्कि यह सवाल भी उठाया कि क्या मोदी सरकार को अब हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए? हालांकि, ये बात अलग है कि अधिकांश ट्विटर यूजर्स को उनकी ये कोशिश भी पसंद नहीं आई।

इस शो के बाद देबाशीष नायक ने राहुल को टैग करते हुए लिखा है ‘लगता है राहुल ने अंकित लाल को गंभीरता से ले लिया। तुम अभी भी केवल मोदी भक्त हो’। वहीं, @govindleena नामक यूजर ने लिखा है, ‘राहुल कंवल के इस ट्वीट से ये बात तो साफ़ हो गई कि राहुल और इसके जैसे गोदी पत्रकार को PMO से निर्देश मिल गए हैं कि चुनावों को देखते हुए सरकार अब तेल के दाम कम करने जा रही है, अब तुम लोग शुरू हो जाओ और ये पत्रकार शुरू हो गए। इनका ये ट्वीट इसी संदर्भ में देखा जाना चाहिए’।

वैसे कुछ लोगों ने राहुल की रिपोर्ट की तारीफ भी की है. यूजर अंकित रैना ने जहां रिपोर्ट को लेकर ‘राइट टॉपिक’ लिखा है वहीं, कमल जैन ने ट्वीट किया है ‘सही समय पर सही तथ्यों के साथ उठाया गया सही विषय।


इससे पहले अंकित लाल द्वारा राहुल कंवल को निशाना बनाये जाने के बाद ट्विटर यूजर्स ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। @tterIndiaनामक यूजर ने राहुल पर हमला बोलते हुए लिखा है, ‘राहुल कंवल आप पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर वर्तमान सरकार की बखिया कब उधेड़ने वाले हैं, जैसा कि आपने यूपीए के साथ किया था? कृपया लिंक शेयर करें। आप जानते हैं कि आप पेट्रोल पर चर्चा करते हुए मोदी का नाम तक नहीं ले सकते’। इसी तरह जगमीत सिंह ने अपने ट्वीट में कहा है ‘लेकिन राहुल आपने पेट्रोल के चढ़ते दामों पर वैसा ट्वीट नहीं किया, जैसा यूपीए के समय में करते थे, कृपया अपमानित महसूस न करें लेकिन यह वैध प्रश्न है’।

अंकित लाल के ट्वीट पर कमेंट करने वाले यूजर्स में से अधिकांश ने राहुल कंवल को निशाना बनाया है। शशांक शर्मा नमक यूजर ने कहा है’ ऐसा लगता है कि 2014 के बाद से आप लोगों ने सरकार से सवाल पूछना ही बंद कर दिया है। पहले विरोध-प्रदर्शन होते थे, प्राइमटाइम डिबेट होती थी, सरकार पर हमले होते थे। ऐसा लग रहा है कि 2014 के बाद सबकुछ ठीक हो गया है’। 

@UntoldStorY06 ने भी राहुल को काफी खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘हमें न बताएं कि आपका चैनल क्या दिखा रहा है। क्या आपमें मोदी और अमित शाह के सामने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को गलत ठहराने की हिम्मत है? क्या आप उन्हें सीधे तौर पर दोषी करार दे सकते हैं?, नहीं, बिल्कुल नहीं, वरना आपका हाल भी पुण्य प्रसून और अभिसार जैसा हो जाएगा’।

इसी तरह किसान भाई नामक यूजर ने लिखा है कि राहुल कंवल को चुनौती न दें, वह अपने मास्टर मोदी और शाह से सवाल पूछने के बजाये जान देना पसंद करेंगे। ऐसे ही @sab_subh_hai ने लिखा है, ‘पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं, लेकिन मोदी का नाम लेने की हिम्मत नहीं हो रही है इन भाई साहब की, और दूसरों को नसीहत दे रहे हैं’। अनूप अग्रवाल ने तो राहुल को अपना नाम बदलने तक की सलाह दे डाली है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘राहुल कंवल को अपना नाम बदलकर राहुल कमल रख लेना चाहिए’।



पोल

‘नेटफ्लिक्स’ और ‘हॉटस्टार’ जैसे प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करने की मांग को लेकर क्या है आपका मानना?

सरकार को इस दिशा में तुरंत कदम उठाने चाहिए

इन पर अश्लील कंटेट प्रसारित करने के आरोप सही हैं

आज के दौर में ऐसे प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करना बहुत मुश्किल है

Copyright © 2018 samachar4media.com