Share this Post:
Font Size   16

इंडिया टुडे से अलग हुए एम जे अकबर

Published At: Friday, 01 January, 2016 Last Modified: Tuesday, 27 February, 2018

समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो

इंडिया टुडे अंग्रेजी और हिंदी के एडिटोरियल डॉयरेक्टर एम जे अकबर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। 31 अक्टूबर संस्थान में उनका आख्रिरी दिन होगा। हालांकि अभी तक इस बात की जानकारी नहीं हो पाई है कि एम जे अकबर की नई भूमिका क्या होगी। कयास लगाए जा रहे हैं कि एम जे अपने अखबार संडे गार्जियन को और समय देंगे. गौरतलब है कि संडे गार्जियन का अधिग्रहण हाल ही में आईटीवी समूह द्वारा किया गया है लेकिन एम जे अकबर उसके संपादक बने हुए हैं।

मशहूर पत्रकार और देश के सबसे युवा संपादक रहे, एमजे अकबर ने 1971 में 19-20 वर्ष की अवस्था से ही समाचारपत्रों के लिए लिखना शुरू कर दिया था। शुरुआत में अकबर, ‘द स्टेट्समैन’ के संपादक के नाम पत्र लिखा करते थे। उत्साह बढ़ा तो नियमित तौर पर समाचारपत्र में लिखना शुरू किया। उन्होंने 'मेकिंग ऑफ़ इंडिया", 'सीज विदिन" जैसी कई किताबें लिखी हैं।

एमजे अकबर 24 साल की अवस्था में ‘ऑनलुकर प्रकाशन’ में संपादक बन गए थे। इससे पहले वे ‘इलस्ट्रेटेड वीकली’ में ढ़ाई साल तक खुशवंत सिंह के साथ काम कर चुके थे। ऑनलुकर पत्रिका के बाद उन्होंने ‘संडे मैगजीन’ में काम किया। यहीं से मैगजीन में राजनीतिक पत्रकारिता की एक तरह से स्थापना की शुरुआत हुई। 1982 में वे ‘टेलीग्राफ’ से जुड़े। और पत्रिका में हरसंभव बदलाव किया।

नोट: समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल एक्सचेंज4मीडिया का उपक्रम है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें samachar4media@exchange4media.com पर भेज सकते हैं या 09899147504/ 09911612929 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 



पोल

सोशल मीडिया पर पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है, क्या है आपका मानना?

पत्रकार भी दूध के धुले नहीं हैं, उनकी भी जवाबदेही होनी चाहिए

ये पेड आईटी सेल द्वारा पत्रकारिता को बदनाम करने की साजिश है

Copyright © 2019 samachar4media.com