Share this Post:
Font Size   16

जाने-माने लेखक प्रोफेसर अरुण भगत को मिला ये सम्मान...

Monday, 26 March, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

उत्तर प्रदेश भाषा संस्थान ने हाल ही में देश के जाने-माने साहित्यकार प्रोफेसर अरुण कुमार भगत को सम्मानित किया। उन्हें भाषा मित्र सम्मान-2018’ केंद्रीय हिन्दी संस्थान- आगरा के उपाध्यक्ष कमल किशोर गोयनका और उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के अध्यक्ष डॉ. राजनारायन शुक्ल ने प्रदान किया।

प्रो. भगत को सम्मान स्वरूप प्रशस्ति पत्र व शॉल भेंट किया गया। समारोह का आयोजन माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के नोएडा परिसर में किया गया।

गौरतलब है कि  उत्तर प्रदेश भाषा संस्थान, लखनऊ ने उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस पर प्रदेश के पांच वरिष्ठ साहित्यकारों को सम्मानित करने का निर्णय किया था। इस साल 24 जनवरी को स्थापना दिवस के ही अवसर पर लखनऊ में सारस्वत अनुष्ठान का आयोजन किया था, किन्तु प्रो. भगत अपनी अस्वस्थता के कारण वहां नहीं जा सके थे।

उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के अध्यक्ष डॉ. राजनारायन शुक्ल ने कहा कि नकारात्मक पत्रकारिता हर जगह फैल रही है। सकारात्मक पत्रकारिता की आवश्यकता आज सर्वाधिक है। प्रो. भगत के साहित्यिक और पत्रकारीय योगदान में सकारात्मक हैं।   

उल्लेखनीय है कि प्रोफेसर भगत ने साहित्य के क्षेत्र में विशिष्ट भूमिका निभाते हुये अब तक लगभग डेढ़ दर्जन से अधिक पुस्तकें लिखी हैं। आपातकालीन साहित्य को संकलित करते हुये इन्होंने आपातकालीन काव्य : एक अनुशीलन’, ‘हिन्दी पत्रकारिता : सिद्धान्त से प्रयोग तक, आपातकाल की प्रतिनिधि कवितायें (दो  खंडों में) और जब कैद हुई अभिव्यक्तिसहित कई  पुस्तकें लिखी जो साहित्य के क्षेत्र में काफी चर्चित रही हैं।

इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुये केन्द्रीय हिन्दी संस्थान आगरा के उपाध्यक्ष कमल किशोर गोयनका ने कहा कि सच को बोलना बहुत मुश्किल है। सच को लिखना उससे भी मुश्किल है और सच को सुनना सबसे अधिक मुश्किल होता है। समय के सापेक्ष सच को लिखना ही पत्रकारिता की साधना है। इतिहास की खोज, नए इतिहास का निर्माण सत्यानुसंधान से ही संभव है। हमेशा सच को ही उद्घाटित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रो. भगत मेरे शिष्य नहीं रहे फिर भी वह मुझे गुरु हीं मानते है। लगभग 40 वर्ष मैं दिल्ली विश्वविद्यालय मे अध्यापक रहा हूं लेकिन किसी छात्र ने ऐसी अनुभूति नहीं करायी। कोई पुत्र अपने पिता को और कोई विद्यार्थी अपने गुरु को पीछे करता है तो वह पल काफी हर्षित करने वाला होता है। ऐसा ही मैं आज महसूस कर रहा हूं।

कार्यक्रम का संचालन डॉ. सौरभ मालवीय ने और धन्यवाद ज्ञापन मीता उज्जैन ने किया। इस अवसर पर प्रोफेसर बीएस निगम, रजनी नागपाल, सूर्य प्रकाश, लाल बहादुर ओझा, डॉ. रामशंकर सहित सभी प्राध्यापक व विद्यार्थी मौजूद रहे।     


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Tags mediaforum


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com