Share this Post:
Font Size   16

IMPACT’s 50 Most Influential Women: मीडिया जगत की ये 5 शख्सियतें हुईं शामिल

Thursday, 29 March, 2018

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

मीडियाएडवर्टाइजमेंट और मार्केटिंग में इस साल अपनी खास पहचान बनाने वाली इंपैक्‍ट की 50 महिलाओं की लिस्‍ट से 22 मार्च को पर्दा उठ गया।

इस लिस्‍ट में पारले एग्रो’ (Parle Agro) की जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्‍टर और चीफ मार्केटिंग ऑफिसर नादिया चौहान ने पहला स्‍थान हासिल किया है। नादिया को यह अवॉर्ड पारले एग्रो उत्‍पादों को तैयार करने और उन्‍हें मार्केट में शीर्ष स्‍थान पर पहुंचाने में किए गए योगदान के लिए दिया गया है। नादिया की कुशल मार्केटिंग का ही कमाल है कि फिल्‍म अभिनेता शाहरुख खानसलमान खान और अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा जैसे बड़े नाम इसके ब्रैंड एंबेसडर रहे हैं।

लिस्ट में प्रथम स्थान पाने वाली नादिया चौहान नेतृत्‍व में ही ‘Frooti’ को नए रूप सज्‍जा में पेश करने के साथ ही ‘Appy Fizz’ को भी एक नई पहचान मिली है। ब्रैंड का दावा है कि आज के समय में यह विश्‍व में इकलौती भारतीय फूड एंड बेवरेज ‘F&B company’ है। पिछली साल के मुकाबले नादिया चौहान 17 स्‍थान ऊपर आकर इस साल नंबर वन पर रही हैं।

यह अवॉर्ड मिलने के बाद चौहान ने ‘Impact’ और ‘exchange4media’ का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, ‘मुझे अभी भी वह दिन याद है जब मैंने पारले एग्रो कंपनी जॉइन की थीलगता है जैसे यह कल की ही बात है। संयोगवश फ्रूटी और मैं एक ही साथ के हैं और दोस्‍तों की तरह साथ बड़े हुए हैं। मेरा आप सभी से कहना है कि अपने डर से आगे निकलें।’ Publicis Media-India’ की सीईओ अनुप्रिया आचार्य  ने भी इस लिस्‍ट में अपनी खास बनाई है। उनका कहना है, ‘इस बात से मैं बहुत ही उत्‍साहित हूं। सात वर्ष पहले जब यह अवॉर्ड शुरू हुआ था तब यह इंडस्‍ट्री के लिए बिल्‍कुल नई बात थी। इस साल हम टॉप टेन में शामिल हैं। यह बहुत ही खास बात है। इसके लिए मैं अपनी मां के साथ-साथ सहयोगियों और अपने संस्‍थान का धन्‍यवाद अदा करना चाहती हूं। लेकिन एक बात मैं जरूर कहना चाहूंगी कि पिछले दो वर्षों में हमारी रैंकिंग में काफी उल्‍लेखनीय सुधार हुआ है। इसके लिए मैं अपने संस्‍थान के साथ-साथ उन लोगों को धन्‍यवाद देना चाहती हूं जिन्‍होंने हमें यहां तक पहुंचाने में मदद की।’ 

सूची में शीर्ष पर जगह बनाने वालों में ‘गोदरेज ग्रुप की एग्जिक्‍यूटिव डायरेक्‍टर और मुख्‍य ब्रैंड अधिकारी तान्‍या डबास, ‘हिन्‍दुस्‍तान यूनिलीवर’ की एग्जिक्‍यूटिव डायरेक्‍टर (होम केयर) प्रिया नायर, ‘इंडिया टुडे ग्रुप’ की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी, ‘बालाजी टेलिफिल्‍म्‍स’ की जॉइंट एमडी और क्रिएटिव डायरेक्‍टर एकता कपूर, ‘प्रोक्टर एंड गैंबल’ की मार्केटिंग डायरेक्‍टर सोनाली धवनरेडियो जॉकीएक्‍टर और टीवी होस्‍ट मालीशका मेंडनस,  ‘Lodestar UM’ की  नंदिनी डाइसऔर  यूनिलीवर’ की वाइस प्रेजिडेंट (फूड्स) दक्षिण एशिया आदि शामिल हैं। इस साल लिस्‍ट में 17 नए लोग शामिल थे। इसके अलावा जूरी ने 50 सबसे प्रभावशाली महिलाओं के अलावा ‘Women to Watch Out for’ के लिए नौ महिला अचीवर्स का चुनाव भी किया।  

इस लिस्‍ट में मीडिया जगत की 6 महिला हस्तियों ने भी अपनी जगह बनाई हैजिसमें चौथे नंबर पर इंडिया टुडे समूह की वाइस चेयरपर्सन कली पुरीग्यारहवें स्थान पर टाइम्स नेटवर्क के दो चैनलों- टाइम्स नाउ की मैनेजिंग एडिटर (पॉलिटिकल) नविका कुमार और मिरर नाउ की एग्जिक्यूटिव एडिटर फाय डिसूजा, 21वें स्थान पर सीएनबीसी-टीवी 18’ की मैनेजिंग एडिटर शिरीन भान31वें स्थान पर इंडिया टीवी की सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर रितु धवन और 34वें स्थान पर बीएजी फिल्म्स की चेयरपर्सन अनुराधा प्रसाद शामिल है।

कली पुरी-

नए जमाने के नए मीडिया का चेहरा हैं कली पुरी। परंपरागत पत्रकारिता को तकनीक से जोड़कर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की कला में कली पुरी का कोई जोड़ नहीं है। देश के बड़े मीडिया संस्थानों से एक इंडिया टुडे समूह की वाइस चेयरपर्सन हैं कली पुरी। वे अपने नए प्रयोगों के लिए जानी जाती हैं। कली पुरी देश की मीडियामार्केटिंग और एडवरटाइजिंग की 50प्रभावशाली महिलाओं की सूची में चौथे स्थान पर रही हैं। कली पुरी के नेतृत्व में इंडिया टुडे ग्रुप रोज नई ऊंचाइयां हासिल कर रहा है। वे पिछले 20 वर्षों से इंडिया टुडे के साथ जुड़ी हुईं हैं।

नविका कुमार-

टाइम्स नाउ का जब भी जिक्र होता हैनविका कुमार की बात ज़रूर छिड़ती है। नविका की गिनती उन पत्रकारों में होती है जिनकी अर्थनीति और राजनीति दोनों पर गहरी पकड़ है। नविका टाइम्स नाउ के साथ शुरुआत से जुड़ी हुई हैं और इस दौरान उन्होंने कई सनसनीखेज़ खुलासे किए। नविका ने इकनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है और इसलिए उनकी आर्थिक विषय को ज्यादा बेहतर ढंग से उठा पाती हैं। 

नविका को बेस्ट इन्वेस्टीगेटिव रिपोर्टर भी कहा जाता है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में आने से पहले वह इंडियन एक्सप्रेस के साथ काम करती थीं। वहां भी उन्होंने अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया। बेनेट कोलमैन एंड कंपनी ने जब अंग्रेजी चैनल 'टाइम्स नाउ' लॉन्च करने का फैसला लियातो उसने ऐसे तेज-तर्रार पत्रकारों की तलाश शुरू की जिन्हें केवल राजनीतिक और आर्थिक ख़बरों की समझ हो बल्कि वो ख़बरों की गहराई में जाकर सही-ग़लत के भेद को दुनिया के सामने ला सके। इसके लिए नविका से बेहतर कोई और नहीं हो सकता थाइसलिए चैनल प्रबंधन ने नविका के साथ डील साइन की। तब से अब तक नविका टाइम्स नाउ को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने में कामयाब रही हैं। यहां उन्हें कई प्रमोशन भी मिल चुके हैं। 

एक दशक से ज्यादा समय से टीवी पत्रकारिता में सक्रिय नविका को कई बड़ी स्टोरी ब्रेक करने और उन्हें इंवेस्टिगेट करने का श्रेय दिया जाता हैजैसे कि सोनिया गांधी का इस्तीफाकॉमनवेल्थ घोटाले में सुरेश कलमाड़ी का इस्तीफाअगस्ता हेलीकॉप्टर घोटालाएयरसेल-मैक्सिस डील आदि।

फाय डिसूजा -

फाय डिसूजा का नाम सुनते ही पिछले साल की वो बहस आंखों के सामने आ जाती हैजिसमें उन्होंने बड़ी शालीनता और धैर्य के साथ अभद्रता पर उतरे मौलाना को जवाब दिया था। यही वो क्षण थाजिसने बतौर महिला एंकर फाय डिसूजा को एक अलग पहचान दिलाई। सोशल मीडिया पर उस बहस का विडियो खूब वायरल हुआइतना ही नहीं दूसरे मीडिया संस्थानों ने भी उस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया। आम तौर पर ऐसे नज़ारे कम देखने को मिलते हैं। 'मिरर नाउ' की एग्जिक्यूटिव एडिटर फाय डिसूजा रात 8 बजे आने वाले शो 'द अर्बन डिबेट' (The Urban Debate) को होस्ट करती हैं। ये शो इस टाइम स्लॉट में लोकप्रिय और बेहतरीन शोज़ में से एक है।     

डिबेट शो में आमतौर पर पैनलिस्ट की आक्रामकता का असर एंकर पर भी दिखाई देता है। कई बार तो एंकर भी अपना आप खो बैठते हैंलेकिन फाय डिसूजा बिलकुल अलग हैं। वे बखूबी जानती हैं कि जब शब्दों की आग बरस रही होतो खुद पर कैसे नियंत्रण रखना है। डिसूजा सामाजिक और राजनीतिक के साथ-साथ आर्थिक मुद्दों पर भी गहरी पकड़ रखती हैं। मिरर नाउ का हिस्सा बनने से पहले वह 'ईटी नाउ' में ‘इन्वेस्टर गाइड’, ‘ऑल अबाउट स्टॉक’ और ‘द प्रॉपर्टी गाइड’ जैसे आर्थिक मसलों से जुड़े शो होस्ट करती थीं।

मूलरूप से बेंगलुरु निवासी फाय डिसूजा ने माउंट कार्मल से जर्नलिज्म की पढ़ाई की। उनके पास अंग्रेजी साहित्य में बैचलर और मास कम्युनिकेशन में मास्टर डिग्री भी है। पत्रकारिता में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत ऑल इंडिया रेडियो कीइसके बाद 2003 में सीएनबीसी टीवी 18 से जुड़ीं और फिर टाइम्स ग्रुप से। डिसूजा को पर्दे के पीछे रहकर अपनी आवाज़ से जादू बिखेरना अच्छा लगता थाइसलिए उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो को सबसे पहले चुना। लेकिन करियर की संभावनाओं को देखते हुए उन्होंने टीवी की दुनिया में कदम रखा। स्कूल के दिनों में फाय डिसूजा ने काफी डिबेट में हिस्सा लिया थाइसलिए जब अप्रैल 2017 में मिरर नाउ के साथ टीवी पर उन्हें लाइव डिबेट करने का मौका मिला तो उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। इसके बाद तो उन्होंने सफलता के नए-नए आयाम स्थापित किये।  

करीब 50 पत्रकारों की टीम को संभालने वालीं फाय डिसूजा का मानना है कि पत्रकारों को राष्ट्रीय मुद्दे उठाने के साथ-साथ आम आदमी को भी तव्वजो देनी चाहिए। उनकी यही कोशिश रहती है कि 'द अर्बन डिबेट' में वह ऐसे मुद्दों को छेड़ें जिनका कहीं न कहीं आम लोगों से प्रत्यक्ष तौर पर जुड़ाव होता है। टीवी पत्रकारिता की दुनिया में आज फाय एक जाना पहचाना नाम हैं। अन्य पत्रकारों के लिए वह एक उदाहरण हैं कि कैसे सौम्यता और शालीनता के साथ भी अपनी बात कही जा सकती है। 

शिरीन भान-

शिरीन भान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की सबसे ग्लैमर्स पत्रकारों में से एक हैं। सीएनबीसी में बतौर मैनेजिंग एडिटर काम करने वालीं शिरीन ने राजनीति से लेकर उद्योग जगत की कई हस्तियों को अपने तीखे सवालों से कई बार घेरा है। 2005 में शिरीन को फिक्की वीमेन ऑफ़ द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया था। पुणे यूनिवर्सिटी से मास कम्युनिकेशन की डिग्री हासिल करने वालीं शिरीन भान लगभग पूरा देश घूम चुकी हैं। दरअसल उनके पिता फाइटर पायलट रहे थेइसलिए उन्हें हर थोड़े अन्तराल में एक जगह से दूसरी जगह जाना पड़ा। शिरीन मानती हैं कि इसकी वजह से उन्हें व्यक्तित्व विकास में काफी मदद मिली। शिरीन का जन्म 20 अगस्त1976 को कश्मीर में हुआ था।      

कम ही लोग जानते हैं कि शिरीन फिल्ममेकिंग में करियर बनाना चाहती थींइसलिए उन्होंने पुणे के प्रसिद्ध फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टिट्यूट में दाखिला भी लिया था। लेकिन एक इंटर्नशिप ने उनकी सोच बदल दी। शिरीन को सिद्धार्थ बासु और वीर सिंघवी के साथ स्टार टीवी पर एक करंट अफेयर्स शो में काम करने का मौका मिला। इस दौरान उन्होंने महसूस किया कि वे शायद पत्रकारिता के लिए ही बनी हैं।        

शिरीन भान ने अपने करियर की शुरुआत यूटीवी के साथ कीउन्होंने दिग्गज पत्रकार करण थापर के नेतृत्व में एक करंट अफेयर शो के लिए बतौर प्रड्यूसर काम किया। इसके बाद वह स्टार टीवीसब टीवी से जुड़ीं और दिसम्बर 2000 में उन्होंने सीएनबीसी के जरिए मेनस्ट्रीम जर्नलिज्म में कदम रखा। तब से अब तक शिरीन सीएनबीसी में अपनी एक अलग स्थान बनाने में कामयाब रही हैं। उन्होंने बेनजीर भुट्टोरिचर्ड ब्रान्सनबिल गेट्सनारायण मूर्तिअज़ीम प्रेमजी जैसी हस्तियों का इंटरव्यू लिया है।      

शिरीन की गिनती उन महिला पत्रकारों में भी होती हैजिनके आने से पत्रकारिता फील्ड ग्लैमरस हो गई। उनका ड्रेसिंग सेन्स और उनका अंदाज़-ए-बयां उन्हें दूसरों से अलग बनाता है। शिरीन इस बात को बखूबी समझती हैं कि किस न्यूज़ को कबकहां और कैसे उठाना है। और शायद यही वजह है कि जॉइनिंग से महज तीन साल में सीएनबीसी प्रबंधन ने उन्हें मैनेजिंग एडिटर जैसे पद की ज़िम्मेदारी सौंपी।

रितु धवन-

रितु इंडिया टीवी की सीईओ व मैनेजिंग डायरेक्टर हैं और इंडिया टीवी के ही चेयरमैन और मैनेजिंग एडिटर है।  वे वरिष्ठ टीवी पत्रकार रजत शर्मा की पत्नी हैं। पति-पत्नी ने मिलकर 'इंडिया टीवी' चैनल 20 मई, 2004 को लॉन्च किया था, जब दो दिन बाद (22 मई, 2004) बीजेपी की केंद्र सरकार ने अपना कार्यकाल खत्म किया था। इंडिया टीवी  इंडिपेंडेंट न्यूज सर्विस नामक कंपनी के अंतर्गत प्रसारित होने वाला चैनल है। इस कंपनी  की स्थापना रितु धवन और रजत शर्मा ने 1998 में की थी।

अनुराधा प्रसाद-

अनुराधा प्रसाद नाम है उस शख्सियत का जिन्होंने अपनी मेहनत और प्रतिभा के दम पर भारतीय मीडिया जगत में वो मुकाम हासिल किया है जो बड़े-बड़े पत्रकारों और उद्यमियों के लिये एक सपना है। वे कई चैनलों की मालकिन हैं। इसके अलावा वे एक ऐसी एन्ट्ररप्रन्यॉर भी हैं जो हर साल दर्जनों बच्चों को मास कम्युनिकेशन की एजुकेशन दे रही है।

अनुराधा प्रसाद बिहार के एक सम्पन्न कायस्थ परिवार से ताल्लुक रखती हैं। पिता ठाकुर प्रसाद बिहार के जाने-माने वकील और राजनेता थे। भाई रविशंकर प्रसाद भी राजनीति में हैं और वर्तमान सरकार में केंद्रीय मंत्री है। स्कूल की पढ़ाई के बाद आगे की शिक्षा के लिए दिल्ली चलीं आयीं और दिल्ली विश्वविद्यालय से पॉलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएशन किया। उन दिनों पत्रकारिता की अलग से पढ़ाई नहीं होती थीलेकिन इन्होंने व्यवहार और सोच हमेशा पत्रकार की ही रखी।

अनुराधा प्रसाद ने पत्रकारिता की शुरुआत ‘मनी मैटर्स’ नामक मैगजीन से की। फिर कई छोटे-बड़े अखबारों में भी काम किया। 1987 में इन्होनें प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया यानी पीटीआई का टीवी डिवीजन जॉइन किया। उन दिनों वरिष्ठ पत्रकार का मतलब सफेद बालों वाले बुजुर्ग होते थे। ऐसे में जींस-टी-शर्ट वाली एक युवा लड़की को संसद और मंत्रियों की रिपोर्टिंग करते देख सभी हैरत में रहते थे। हालांकि अनुराधा प्रसाद ने अपने विश्लेषणों और रिपोर्टों से साबित कर दिया कि उनकी सोच में परिपक्वता और गंभीरता दोनों है। पीटीआई के बाद वे 'ऑब्जर्वर'में बतौर रिपोर्टर रहीं।

अपने प्रॉडक्शन हाउस की शुरुआत कर अनुराधा 1990 के दशक में एक स्थापित नाम बन गयी थीं। उन्होंने महज 40 हजार रुपए में अपने दो कमरे के फ्लैट से 1993 में भगवानअल्लाह और गॉड के पहले अक्षरों को मिलाकर बी.ए.जी. फिल्म्स की नींव डाल अपने व्यवसाय की शुरुआत की थी। दूरदर्शनस्टार प्लसस्टार न्यूजस्टार वनडीडी न्यूजजूम टीवी जैसे कई चैनलों पर अपने दर्जनों प्रोग्राम्स के जरिये उन्होंने टीवी जगत में मानों एक तहलका मचा दिया। करीब चौदह साल बाद यानी 2007 में ब्रॉडकास्ट-24 लॉन्च किया जिसके बैनर तले न्यूज-24 और ई-24 जैसे टीवी चैनल व ‘रेडियो धमाल’ नाम से एफएम रेडियो की श्रृंखला चलाकर करोड़ों दर्शकों व श्रोताओं से जुड़ी हैं। उनका मीडिया इंस्टीच्यूट ‘आइसोम्स’ भारत के अग्रणी मीडिया संस्थानों में शुमार हो चुका है और हर साल दर्जनों छात्र यहां से निकल कर देश के नामी-गिरामी संस्थानों में अपना करियर बना रहे हैं।

अनुराधा प्रसाद के पति राजीव शुक्ला भी एक जानी मानी हस्ती हैं। जिस बिल्डिंग में प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया का ऑफिस था उसी कॉम्प्लेक्स में राजीव शुक्ला के संडे मैगजीन का ऑफिस था। दोनों के परिवार वाले शुरू में इस शादी के खिलाफ थे लेकिन बाद में अनुराधा के भाई रविशंकर प्रसाद के समझाने पर पिता मान गये और 1988 में इनकी शादी हो गई। यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रह चुके राजीव शुक्ला पूर्व राज्यसभा सदस्य और आईपीएल के चेयरमैन हैं।

अनुराधा प्रसाद का नाम भारत की एक तेज-तर्रार व बेबाक महिला पत्रकार के रूप में जाना जाता है। अपने चैनल न्यूज-24 में प्रसारित होने वाले प्रोग्राम 'आमनेसामने' में जिस साफगोई से वे सवालों को प्रस्तुत करतीं है उसे सुन कई बार बड़े से बड़े राजनेताओं की भी चुप्पी सी बन जाती है। बतौर पत्रकार कड़ा तेवर रखने वाली अनुराधा प्रसाद सामान्य जीवन में बेहद सरल और हंसमुख मिजाज की हैं।  

अनुराधा प्रसाद हिन्दुस्तान की जानी मानी बिज़नेस वुमेन हैं। सीआईआई एंव फिक्की एंटरटेनमेंट कमेटी की सदस्य होने साथ-साथ ये एक एक अच्छी गृहणी भी है।

इम्पैक्ट की 50 प्रभावशाली महिलाओं की इस लिस्‍ट को तैयार करने के लिए मैडिसन वर्ल्‍ड के चेयरमैन और एमडी सैम बलसारा की अध्‍यक्षता में जूरी का गठन किया गया था। जूरी में उनके अलावा ‘Ogilvy & Mather India’  की वाइस चेयरमैन और ग्रुप सीओओ सोनल डबराल, ‘दैनिक भास्‍कर ग्रुप’ के एग्जिक्‍यूटिव प्रेजिडेंट भास्‍कर दासएन्‍टरप्रिन्‍योर पुनीता आरुमुगम, ‘Yahoo (Oath)’ के वाइस प्रेजिडेंट और एमडी गुरमीत सिंह, ‘सकाल मीडिया ग्रुप’ के सीईओ प्रदीप द्विवेदी, ‘J Walter Thompson India’ के सीईओ तरुण राय, ‘Strategic Resources Group’ की डायरेक्‍टर रोमा बलवानी और ‘Zee Unimedia’ के सीओओ आशीष सहगल शामिल रहे।

इस लिस्‍ट के बारे में बिजनेसवर्ल्ड’ (BusinessWorld) और एक्सचेंज4मीडिया’ (exchange4media) ग्रुप के चेयरमैन एवं एडिटर-इन-चीफ अनुराग बत्रा ने कहा, ‘मार्केटिंगमीडिया एंड कम्‍युनिकेशन इंडस्‍ट्री में बड़ी संख्‍या में महिलाओं ने अपनी पहचान बनाई है लेकिन अभी भी हमें काफी लंबा रास्‍ता तय करना है। JWT’, ‘Ogilvy’, ‘TOI’,  Star TV’, ‘ Zee TV , GroupM  और ‘ Madison जैसी कंपनियों का नेतृत्‍व पुरुषों के हाथों में है। मैं चाहता हूं कि ऐसी सभी कंपनियों की कमान महिलाओं के हाथों में हो। 50 प्रभावशाली महिलाओं की लिस्‍ट में शामिल सभी महिलाओं ने एक नई कहानी लिखी है और अपने उल्‍लेखनीय कार्यों की बदौलत एक नई पहचान बनाई है। आज हम सभी इन महिलाओं को सैल्‍यूट करते हैं।

इम्पैक्ट मैगजीन के सातवें एडिशन में 50 महिलाओं की लिस्‍ट से पर्दा उठाने के लिए 22 मार्च2018 को मुंबई में एक रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में इंडस्‍ट्री के जाने-माने चेहरे शामिल थे। इस कार्यक्रम का प्रजेंटिंग पार्टनर &टीवी (&TV) , जबकि एबीपी (ABP) को-पॉवर्ड रहा। कार्यक्रम में टीएलसी (TLC ) को-गोल्‍ड पार्टनर रहा और मोदी मोटर्स (Modi Motors) लग्‍जरी ऑटो पार्टनर रहा।
समाचार4मीडिया इन सभी महिला पत्रकारों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता है।

विजेताओं की पूरी लिस्‍ट आप यहां देख सकते हैं-

  



 



समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Tags mediaforum


Copyright © 2018 samachar4media.com