Share this Post:
Font Size   16

प्रख्यात साहित्यकार बालकवि बैरागी ने अंतरराष्ट्रीय मच पर नीमच को दी पहचान

Monday, 14 May, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

जानें-मानें कवि, साहित्यकार और पूर्व सांसद बालकवि बैरागी नहीं रहे। 87 साल की उम्र में मध्य प्रदेश के नीमच जिले में स्थित गृह नगर मनासा में उनका निधन हो गया। उन्होंने अपने निवास पर शाम 6 बजे अंतिम सांस ली। बताया जा रहा है कि नीमच में एक कार्यक्रम में शामिल होकर आने के बाद उन्होंने अपने घर पर कुछ देर आराम किया, इसी दौरान उनकी मृत्यु हो गई।

बालकवि बैरागी का वास्तविक नाम नन्दरामदास द्वारका दास था। उनका जन्म 10 फरवरी 1931 को मनासा विकासखंड के रामपुरा में हुआ था। बालकवि बैरागी हिंदी कवि सम्मेलनों में शौर्य की कविताओं का प्रतिनिधित्व करने वाले सबसे लोकप्रय कवि थे।

सक्रिय राजनीति में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। बैरागी की गिनती कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में होती थी। वे 1945 से कांग्रेस में सक्रिय रहे। 1967 में उन्होंने विधानसभा चुनाव में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा को शिकस्त दी थी। 1969 से 1972 तक पं। श्यामाचरण शुक्ल के मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री रहे। 1980 में वे मनासा से दोबारा विधायक निर्वाचित हुए। अर्जुनसिंह की सरकार में भी वे मंत्री रहे। 1984 तक लोकसभा में रहे। 1995-96 में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में संयुक्त सचिव रहे। 1998 में मध्य प्रदेश से राज्यसभा में गए। 29 जून 2004 तक वे निरंतर राज्यसभा सदस्य रहे। 2004 में उन्हें राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के आंतरिक संगठनात्मक चुनावों के लिए उन्हें चुनाव प्राधिकरण का अध्यक्ष बनाया गया। 2008 से 2011 तक मध्य प्रदेश कांग्रेस में उपाध्यक्ष रहे। मध्य प्रदेश कांग्रेस चुनाव समिति के अध्यक्ष भी रहे हैं। वर्तमान में वे केंद्रीय हिंदी सलाहकार समिति के सदस्य थे।

बैरागी ने हिंदी सिनेमा को अनेक महत्वपूर्ण गीत दिए। रेशमा और शेरा का 'तू चंदा मैं चांदनी' आपकी कलम से निकला अविस्मरणीय गीत है। कवि बालकवि बैरागी को मध्यप्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग द्वारा कवि प्रदीप सम्मान भी प्रदान‍ किया गया।

साहित्‍य और राजनीति से जुड़े रहने के कारण उनकी कविताओं में साहित्य और राजनीति की झलक देखने को मिलती है। गीत, दर्द दीवानी, दो टूक, भावी रक्षक देश के, आओ बच्चों गाओ बच्चों बालकवि बैरागी की प्रमुख रचनाएं हैं।

मृदुभाषी व मस्‍तमौला स्‍वभाव और सौम्‍य व्‍यक्तित्‍व के धनी बालकवि बैरागी ने अंतरराष्ट्रीय कवि के रूप में नीमच जिले को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया था।


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Tags mediaforum


Copyright © 2018 samachar4media.com