Share this Post:
Font Size   16

RSS के सह सरकार्यवाहक मनमोहन वैद्य की मीडिया को नसीहत...

Tuesday, 03 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

मीडिया समाज का अंग है। समाज, मीडिया के लिए ग्राहक नहीं है। हम समाज को क्या दे रहे हैं। देश के निर्माण में हमारा क्या योगदान है। यह विचार, यह विमर्श और स्वयं का मूल्यांकन मीडिया को करना चाहिए। यह कहना है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाहक मनमोहन वैद्य का। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी में भी अच्छे पाठक हैं। इसलिए समाज को अच्छी बातों को बताना चाहिए। 

वे  आगरा के खंदारी में स्थित आरबीएस के मैनेजमेंट एवं टेक्निकल कैंपस में एक संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। संगोष्ठी की अध्यक्षता डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्व विश्व विद्यालय के कुलपति डॉ. अरविंद दीक्षित ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में समाजसेवी रमाशंकर गोयल मंचासीन रहे व विषय प्रवर्तन एवं स्वागत भाषण स्वदेश के समूह संपादक अतुल तारे ने दिया। संचालन स्वदेश आगरा संस्करण के उप संपादक मधुकर चतुर्वेदी ने किया।

प्रिंट मीडिया का भविष्य एवं संभावनाएं विषय पर बतौर मुख्य वक्ता अपने संबोधन में वैद्य ने जहां एक ओर देश में सकारात्मक वातावरण निर्माण में मीडिया की भूमिका को रेखांकित किया। तो वहीं उन्होंने कहा कि प्रिंट मीडिया का महत्व आज भी है और रहेगा। आवश्यकता उसे और अधिक जवाबदेह एवं अध्ययनशील होने की है। उन्होंने कहा कि पत्रकार जो देखता है वह लिखता है और दिखाता है व अनुभव करता है कि समाज से मेरा कोई रिश्ता है। वैद्य ने कहा कि तकनीक से मीडिया की गति बढ़ी है।

पत्रकारिता में बढ़े सकारात्मकता का दायरा

वैद्य ने कहा कि आज अखबार खोलते हैं तो उसमें भष्ट्राचार, धोखाधड़ी आदि समाचार रहते हैं। इस प्रकार की घटनाएं सत्य हैं लेकिन, अच्छे कामों की जानकारी भी ज्यादा होनी चाहिए। उन्होंने  देश के एक बड़े समाचार पत्र का उदाहरण देते हुए कहा कि उस अखबार ने साकारात्मक समाचार का एक कॉलम शुरू किया है। इसी प्रकार अन्य पत्रों में भी इस प्रकार की शुरुआत होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत के पास विपुल सांस्कृतिक धरोहरें हैं, भारत के माध्यम से उसे दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि समाज मेरा है, क्या देना चाहिए इसका विचार करना चाहिए। उन्होंने शैक्षिक संस्थानों को आव्हान करते हुए कहा कि अच्छे पत्रकार तैयार करने चाहिए। अच्छी बातों को समाज में प्रसारित करना चाहिए।

संगोष्ठी में क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम, आगरा विभाग प्रचारक धर्मेंद्र, महानगर प्रचारक गोविंद, प्रांत संपर्क प्रमुख प्रमोद शर्मा, प्रांत प्रचार प्रमुख केशवदेव शर्मा, विभाग संघचालक हरीशंकर शर्मा, विभाग कार्यवाह, पंकज खंडेलवाल, दिलीप, विभाग प्रचार प्रमुख मनमोहन निरंकारी, महानगर संघचालक विजय गोयल, महानगर कार्यवाह अरविंद, सह कार्यवाह खगेश कुमार, सेवा प्रसून के संपादक रामगोपाल कुश, रजनीश त्यागी, नंदकिशोर वाल्मीक, केएमआई के निदेशक प्रदीप श्रीधर, वरिष्ठ अधिवक्ता एड. सुरेंद्र गुप्ता, होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ. पार्थ सारथी शर्मा, के.के. भारद्वाज, संजीव चौबे, राहुल सागर, आदेश तिवारी, राहुल उपाध्याय, विद्यार्थी प्रचारक नमन, शिवम, संकल्प के बृजेश पंडित, साहित्यकार ज्योत्सना, सुरआनंद के सुरेंद्र बंसल, सौरभ जैन, शिक्षक प्रियंका मसीह, अपर्णा सिंह, आशारानी वोहरा, निर्मला दीक्षित, महावीर सिंघल, धीरज शर्मा, छात्रसंघ अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा, सामाजिक कार्यकर्ता श्रवण कुमार, महानगर प्रचार प्रमुख विनीत शर्मा, राजकिशोर, विहिप महानगर अध्यक्ष दीपक अग्रवाल, मंत्री राजीव शर्मा, सौरभ ठाकुर, वरिष्ठ पत्रकार ब्रज खंडेलवाल, वरिष्ठ पत्रकार डॉ. गिरजाशंकर शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार विवेक जैन, वरिष्ठ पत्रकार बनारसीदास भोला, वरिष्ठ पत्रकार केएल धूसिया, पत्रकार केके पाठक आदि पत्रकारिता के छात्र उपस्थित रहे। 

Tags mediaforum


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com