Share this Post:
Font Size   16

जावेद अख्‍तर ने सम्मान पर ट्रोलिंग करने वालों को दिया ये करारा जवाब...

Monday, 09 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

देश के जाने-माने गीतकार और संवाद लेखक जावेद अख्‍तर को वाराणसी के संकट मोचन मंदिर द्वारा 'शांतिदूत' पुरस्कार दिया गया है। यह पुरस्कार शांति के लिए काम करने वाले असाधारण लोगों को सम्मान स्वरूप दिया जाता है। हालांकि जैसे ही यह खबर सोशल मीडिया में आई, उन्हें ट्रोल किया जाने लगा।


ट्रोल करने वालों को करारा जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें इस पुरस्कार पर गर्व महसूस हो रहा है। अख्तर ने कहा, 'संकट मोचन मंदिर निस्संदेह देश का सबसे पूजनीय हनुमान मंदिर है। सप्ताह भर चलने वाला संगीत समारोह उनकी 95 साल पुरानी परंपरा है, लेकिन यह पहली बार है, जब मंदिर प्रबंधन ने शांतिदूत पुरस्कार देने का फैसला किया।'


उन्होंने कहा, 'मैं गौरवान्वित हूं कि उन्होंने मुझे यह सम्मान दिया है। 6 अप्रैल की रात को मुझे मंदिर में यह पुरस्कार मिला।' अख्तर ने कहा, 'यह हमारा असली भारत है। यहां सभी धर्मों को मानने वाले साथ रहते हैं और जो लोग सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश करते हैं, उनको शांति चाहने वाले लोग इसका प्रभावी ढंग से जवाब देते हैं। भारत को दुनिया में लोग सभी धर्मों का आदर करने वाले देश के रूप में जानते हैं। कुछ लोग सियासी फायदे के लिए भारत की धर्मनिरपेक्ष छवि को नुकसान पहुंचाने में लगे हैं। जो लोग ऐसा करते हैं, उन्हें दुनिया फिरकापरस्त कहती है।'


इस मौके पर शबाना आजमी ने कहा कि मुझे लगता है कि यह पुरस्कार देश के सबसे पूजनीय मंदिरों में से एक द्वारा दिया गया है, जो जावेद को ट्रोल करने वालों के लिए माकूल जवाब है।

 

Tags mediaforum


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com