Share this Post:
Font Size   16

इस मिशन से जुड़कर ताजनगरी की युवतियां खुद को बना रहीं सशक्त

Published At: Saturday, 22 September, 2018 Last Modified: Saturday, 22 September, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

ताजनगरी आगरा की युवतियां इन दिनों अपने आप को सशक्त बनाने के लिए एक मिशन के साथ जुड़ रही हैं और यह मिशन है आलिया फाउंडेशन का ‘पिंक बेल्ट मिशन’, जोकि आगरा से शुरू होकर पूरे देश में धूम मचा रहा है।


बता दें कि ‘पिंक बेल्ट मिशन’ के तहत शहर और उसके आसपास के देहाती इलाकों में युवतियों को शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक और डिजिटल वर्ल्ड की जानकारी दी जा रही है। उनको बताया जा रहा है कि अपने आपको कमजोर न समझें। खुद को अबला नहीं सबला बनाएं। डरो नहीं, अपनी सुरक्षा, स्वाभिमान, अभिमान के लिए खड़ा होना सीखो। इस मिशन के तहत अभी तक लाखों लड़कियों को पूरे देश में प्रशिक्षण प्रदान कर उनको सक्षम बनाया जा चुका है।


आगरा शहर में ही 15 हजार से अधिक लड़कियों को प्रशिक्षण देकर अबला से सबला बनाया गया है। अचानक घटने वाली किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने में ये लड़कियां सक्षम हैं। इनमें मदरसों, अनाथालयों और ब्लाइंड स्कूल का लड़कियां व बच्चियां भी शामिल हैं।


आगरा में वर्ष 2018 में फरवरी माह में पिंक बेल्ट मिशन का प्रारंभ आगरा कॉलेज सभागार से किया गया था, जहां इसकी शुरुआत इंटरनेशनल मॉटिवेशनल स्पीकर अपर्णा राजावत ने इसकी शुरुआत की थी। सात माह के अंदर पिंक बेल्ट मिशन के अंतर्गत आगरा और देहाती इलाकों की 15 हजार युवतियों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। लगभग 80 इंटर कॉलेजों और जूनियर हाई स्कूल में युवतियों को ट्रेनिंग के माध्यम से बताया जा चुका है कि किस तरह वह अपने जीवन को बेहतर बना सकती हैं। साथ ही देश के विभिन्न भागों में भी पिंक बेल्ट मिशन जगह-जगह कार्यशालाओं का आयोजन होना प्रारंभ हो गया।


कार्यशालाओं के माध्यम से इंटरनेशनल मॉटिवेशनल स्पीकर अपर्णा राजवात लड़कियों को प्रशिक्षण दे रहीं हैं। प्रत्येक कार्यशाला के उपरांत पिंक बेल्ट क्लब में आने वाली लड़कियों को विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। विशेष प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली लड़कियां द्वारा अपने-अपने जनपदों के स्कूल कॉलेजों में पढ़ने वाली लड़कियों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। पिंक बेल्ट क्लब की देश में हजारों की संख्या में ट्रेनर लड़कियां है, जिनके माध्यम से पूरे देश में लाखों की संख्या में लड़कियों को ट्रेनिंग दी जा रही है। इनमे राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में टीम काम कर रही है।


प्रशिक्षण इमोशनल, फिजिकल, लीगल, मैन्टल, डिजिटल सुरक्षा से जुड़ी प्रत्येक जानकारी प्रदान की जाती है। इनको मानसिक रूप से सबल बनाने के साथ ही महिलाओं की सुरक्षा से जुड़े कानून क्या हैं? अपराध की श्रेणी में किस तरह के दुर्व्यवहार व घटनाएं आती हैं। कैसे महिलाएं इन कानूनों का उपयोग कर सकती हैं जैसी जानकारियों के साथ ही। अप्रिय स्थितियों में सेल्फ डिफेंस की तकनीक का वह कब कैसे स्तेमाल कर अपनी सुरक्षा कर सकती हैं। सोशल मीडिया पर किस तरह की सावधानी रखनी चाहिए जैसे अनेकों विषयों से अवगत कराया जाता है।


आगरा शहर में ही पिंक बेल्ट की 150 ट्रेनर हैं, जबकि प्रशिक्षण प्रदान करने वाली लड़कियों में पिंक बेल्ट क्लब की दिप्ती सैनी, कुंनिका सिंह, पायल चैहान, प्रेरणा जादौन, नेहा चित्तोरिया, कंचन भीमसेन, कौशाम्बी, डिंपल शर्मा, मोनिका सिंह, पूर्णिमा पाल, लता, पूजा निमेश, करिश्मा सोनी, सन्या, मोहिनी, मुस्कान, ज्योति, कीर्ति अग्रवाल, अनुश्का चौहान आदि हैं। इस कार्यक्रम की सफलता में प्रोजेक्ट हेड सत्यार्थ भदौरिया का विशेष योगदान रहा है।


पिछले दिनों अपर्णा राजावत पिंक बेल्ट मिशन के तहत जिलाधिकारी से मिलीं। जिलाधिकारी ने प्रत्येक स्कूल में इस तरह के प्रशिक्षण देने के लिए कहा। उन्होंने इसके लिए मुख्य विकास अधिकारी को अधिकृत किया, जिन्होंने डीआईओएस, डाइट के प्राचार्य व अन्य अधिकारियों को बुलाकर पिंक बेल्ट मिशन के तहत प्रत्येक स्कूल व कॉलेजों की लड़कियों को प्रशिक्षण देने के लिए सहयोग प्रदान करने के निर्देश दिए और खुशी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम को पूरे प्रदेश में चलाया जाना चाहिए। पुलिस के सहयोग से कार्यक्रम को चलाने के लिए ब्लूप्रिंट देने के लिए उन्होंने कहा है।


उल्लेखनीय है कि अपर्णा राजावत छोटी सी उम्र में ही मार्शल आर्ट चैम्पियनशिप में भाग लेने वाली महिला हैं। उन्हें बहुत कम उम्र में ही मार्शल आर्ट में इंटरनेशनल लेबल पर भारत के लिए पदक जीतने पहली भारतीय महिला खिलाड़ी होने का गौरव प्राप्त है। उन्होंने 12 से 19 वर्ष की उम्र में अनेकों राष्ट्रीय चैम्पियनशिप प्रतियोगिताओं को जीत कर कीर्तिमान स्थापित किया। अमेरिका के विभिन्न संस्थानों की तरफ से इस अभियान को शुरू करने पर इंटरनेशनल मॉटिवेशनल स्पीकर अपर्णा राजावत को सम्मानित किया गया है।


 







पोल

‘नेटफ्लिक्स’ और ‘हॉटस्टार’ जैसे प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करने की मांग को लेकर क्या है आपका मानना?

सरकार को इस दिशा में तुरंत कदम उठाने चाहिए

इन पर अश्लील कंटेट प्रसारित करने के आरोप सही हैं

आज के दौर में ऐसे प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करना बहुत मुश्किल है

Copyright © 2018 samachar4media.com