Share this Post:
Font Size   16

रंग लाई अक्षय पात्र फाउंडेशन की मेहनत, मिला ये प्रतिष्ठित अवॉर्ड

Published At: Tuesday, 26 February, 2019 Last Modified: Wednesday, 27 February, 2019

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

देशभर में लाखों बच्चों को मिड-डे मील उपलब्ध कराकर देश के सामाजिक-आर्थिक विकास की दिशा में योगदान देने के लिए ‘अक्षय पात्र फाउंडेशन’ को वर्ष 2016 का प्रतिष्ठित गांधी शांति पुरस्कार दिया गया है। 26 फरवरी, 2019 को राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त रूप से अक्षय पात्र फाउंडेशन के चेयरमैन मधु पंडित दास को नकद पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र सौंपा। समारोह में केंद्रीय संस्कृति राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा, सांसद लालकृष्ण आडवाणी और अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

महात्मा गांधी की 125वीं जयंती के अवसर पर 1995 में सरकार द्वारा शुरू किया गया यह वार्षिक पुरस्कार महात्मा गांधी के विचारों का पालन करते हुए सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक परिवर्तन की दिशा में योगदान देने के लिए व्यक्तियों और संस्थानों को दिया जाता है। 16 जनवरी, 2019 को पिछले चार वर्षों के पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा की गई। निर्णायक मंडल में शामिल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, देश के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने सर्वसम्मति से सामाजिक क्षेत्र में बेहतरीन योगदान के लिए अक्षय पात्र का चयन किया।

पुरस्कार हासिल करने पर मधु पंडित दास ने कहा,‘गांधी शांति पुरस्कार के लिए चुना जाना अक्षय पात्र के लिए बेहद गर्व और सम्मान का विषय है। कोई भी बच्चा भूख की वजह से शिक्षा से वंचित न रहे, इस सपने के साथ हम वर्ष 2000 से सरकारी स्कूलों में बच्चों को ताज़गी और पोशण से भरपूर भोजन परोस रहे हैं। मैं ऐसे संगठन का हिस्सा बनकर सौभाग्यशाली और सम्मानित महसूस कर रहा हूं, जो गुणवत्तापूर्ण, पोषण से भरपूर और स्वादिष्ट मिड-डे मील 17.6 लाख बच्चों तक पहुंचाता है और इस तरह उन्हें स्कूल आने के लिए प्रोत्साहित करता है। हमारे सभी सहयोगियों के सामूहिक प्रयासों से ही यह सब कुछ संभव हो सका है।’ उन्होंने इस कार्यक्रम में पुरस्कार प्राप्त करने के लिए सुलभ इंटरनेशनल, एकल अभियान ट्रस्ट, विवेकानंद केंद्र और श्री योहेई सासाकावा को भी बधाई दी।’

वहीं, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बड़े पैमाने पर बच्चों को पोषणयुक्त मिड-डे मील कराने के अक्षय पात्र के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा,‘बच्चों को गुणवत्तापूर्ण और स्वच्छ खाना खिलाने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाकर अक्षय पात्र ने विश्वस्तरीय मानक स्थापित किया है। अपने प्रयासों के माध्यम से फाउंडेशन देश के 12 राज्यों में करीब 18 लाख बच्चों तक पहुंचता है।’

समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ’अक्षय पात्र ने सरकार के साथ सफल सार्वजनिक-निजी साझेदारी के माध्यम से बच्चों को मिड-डे मील उपलब्ध कराने के सरकार के प्रयास को पेशेवर बनाया है। मुझे हाल ही में वृंदावन में अक्षय पात्र का 300 करोड़वां भोजन परोसने का अवसर भी मिला।’ उन्होंने यह भी कहा कि अगर बच्चे सेहतमंद हैं तो भारत भी सेहतमंद होगा।



पोल

पुलवामा में आतंकी हमले के बाद हुई मीडिया रिपोर्टिंग को लेकर क्या है आपका मानना?

कुछ मीडिया संस्थानों ने मनमानी रिपोर्टिंग कर बेवजह तनाव फैलाने का काम किया

ऐसे माहौल में मीडिया की इस तरह की प्रतिक्रिया स्वाभाविक है और यह गलत नहीं है

भारतीय मीडिया ने समझदारी का परिचय दिया और इसकी रिपोर्टिंग एकदम संतुलित थी

Copyright © 2019 samachar4media.com