बच्चों के बचपन को कुछ यूं सुरक्षित करेगा रेड एफएम

बच्चों के बचपन को कुछ यूं सुरक्षित करेगा रेड एफएम

Sunday, 17 June, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

बच्चों का बचपन सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्‍स फाउंडेशन और रेड एफएम ने हाथ मिलाया है। इसके तहत रेड एफएम कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन द्वारा स्थापित ‘सुरक्षित बचपन फंड’ के लिए धन एकत्रित करेगा और इसके लिए वह 12 से 28 जून तक ‘बजाओ फॉर ए कॉज’ नाम से अभियान चलाएगा।

इस अभियान के तहत जुटाए गए फंड से हिंसा के शिकार बच्चों के स्वास्थ्य और कानूनी सहायता के साथ-साथ मानसिक आघात से उबरने के लिए काउंसिल की मदद दी जाएगी।   

गौरतलब है कि रेड एफएम ‘बजाओ फॉर ए कॉज’ अपने कार्यक्रम के तहत हर साल सीएसआर अभियान का संचालन करता है। इस बार ‘सुरक्षित बचपनसुरक्षित भारत’ बनाने के उद्देश्य से कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन के साथ सहयोग कर रहा है। रेड एफएम अपने कार्यक्रम ‘बजाओ फॉर ए कॉज’ में बाल श्रमवेश्यावृत्तिऔर यौन शोषण के खिलाफ एक साल का अभियान शुरू कर रहा है।

इस बार रेड एफएम देशभर के श्रोताओं से ‘सुरक्षित बचपनसुरक्षित भारत’ बनाने के लिए तन और मन से अपना पुरजोर समर्थन करने और बाल हिंसा से प्रभावित समाज के कमजोर और वंचित बच्चों के लिए धन देने का आग्रह करेगा।

इस पहल के तहत एफएम बंधुआ मजदूरी से मुक्त हुए और अन्‍य बच्‍चों की दुर्दशा के वास्तविक जीवन की कहानियों को भी साझा करेगाजो अभी भी अपना बचपन बचाए जाने की आस कर रहे हैं।

अपनी इस पहल कोल लेकर रेड एफएम की सीओओ निशा नारायणन का कहना है, ‘बजाते रहोरेड एफएम का मंत्र है। 'बजाओ फॉर ए कॉजहमको विरासत में मिला है और हम लगातार अपनी पहलों में इसको लेकर आगे बढ़ रहे हैं। हर  साल हम इस सीएसआर अभियान के अनेक मुद्दों और सरोकारों के लिए संचालन करते हैं और इसके लिए बाजारों और शहरों तक हमारी पहुंचने की कोशिश होती है। उदाहरणस्‍वरूप मुंबई में सेक्स श्रमिकों के बच्चों के लिए शिक्षाकोलकाता में 50 सरकारी स्कूलों में सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीनों की स्थापनादिल्ली में अनाथ या यतीम बच्चों के लिए धन जुटाने और इस साल पूरे भारत में सभी प्रकार के शोषण के खिलाफ सुरक्षित बचपन जैसे अभियान इसमें शामिल हैं। हमारा मानना ​​है कि कैलाश सत्‍यार्थी की 'सुरक्षित बचपनपहल के साथ हमारा सहयोग युवाओं के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने की दिशा में आगे बढ़ेगा। हम उन्‍हें एक ऐसा जीवन देने के लिए अग्रसर हैं जिसके वे हकदार हैं।’  

वहीं रेड एफएम के सहयोग पर टिप्पणी करते हुए नोबेल शांति पुरस्‍कार विजेता कैलाश सत्यार्थी कहते हैं,  ‘हमारा देश जो विकास और तकनीकी प्रगति के लिए प्रयासरत हैवहां बाल मजदूरी अभी भी सबसे बड़ी राष्ट्रीय त्रासदी हैक्योंकि यह गरीबी और निरक्षरता को कायम रखता है। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत में हर घंटे चार बच्‍चों का यौन शोषण किया जाता है और आठ मिनट पर एक बच्‍चा लापता हो जाता है। अकसर इन बच्चों को यौन दासता और बंधुआ मजदूरी के लिए बेचा जाता हैजो खतरनाक परिस्थितियों में काम करते हैं। इन बच्‍चों को उनकी मासूमियतउनके सपनों और उनके बचपन से अलग किया जा रहा है। उन बच्‍चों को हताश और असहाय जीवन जीने के लिए अभिशप्‍त किया जा रहा है। मैं इस बात को अस्‍वीकार करता हूं कि उनकी समस्‍याओं का समाधान नहीं हो सकता। मैं हमेशा आपसे यह कहता हूं कि आप जब कभी भी किसी बच्‍चे को मजदूरी करते हुए देखें तो आप उसी तरह से गुस्‍सा होइए जैसे कि आपके बच्‍चे से मजदूरी कराई जा रही हो। आपके सहयोग और समर्थन से हम इस सामाजिक बुराई को दूर कर सकते हैं और उनको न्‍याय दिला सकते हैं जो इस दासता और हिंसा का सामना कर रहे हैं। अपने साथ मैं ‘सुरक्षित बचपनसुरक्षित भारत’ बनाने में योगदान के लिए रेड एफएम की सराहना करता हूं।’ 

रेड एफएम और कैलाश सत्यार्थी चिल्‍ड्रेन्‍स फाउंडेशन का यह साझा प्रयास सुरक्षित बचपन के संदेश को व्यापक रूप से फैलाने की एक योजना का हिस्सा है। देश के बड़े महानगरों दिल्लीकोलकातामुम्‍बई और बेंगलुरु में ऑन-एयर कार्यक्रमों के माध्यम से यह लोगों पर अधिक से अधिक प्रभाव डाल सकेगा। इसी महीने से शुरू इस कार्यक्रम के लिए श्रोता 1000 रुपए का दान कर सकते हैंजिसे धारा 80 जी के तहत आयकर से मुक्‍त रखा गया है। रेड एफएम का उद्देश्य उन निर्दोष चेहरों पर मुस्कुराहट लाना है और उन्हें खूबसूरत जीवन में विश्‍वास दिलाना है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।   

 



पोल

रात 9 बजे आप हिंदी न्यूज चैनल पर कौन सा शो देखते हैं?

जी न्यूज पर सुधीर चौधरी का ‘DNA’

आजतक पर श्वेता सिंह का ‘खबरदार’

इंडिया टीवी पर रजत शर्मा का ‘आज की बात’

इंडिया न्यूज पर दीपक चौरसिया का 'टू नाइट विद दीपक चौरसिया'

न्यूज18 हिंदी पर किशोर आजवाणी का ‘सौ बात की एक बात’

एबीपी न्यूज पर पुण्य प्रसून बाजपेयी का ‘मास्टरस्ट्रोक’

एनडीटीवी इंडिया पर रवीश कुमार का ‘प्राइम टाइम’

न्यूज नेशन पर अजय कुमार का ‘Question Hour’

Copyright © 2017 samachar4media.com