Share this Post:
Font Size   16

सहारा इंडिया मीडिया: अरूप घोष-ओंकारेश्वर पांडे ने लिया ये फैसला...

Thursday, 21 June, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 

आर्थिक भंवर में गोते लगा रहे सहारा इंडिया मीडिया की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। तमाम प्रयासों के बावजूद सहारा इंडिया मीडिया की हालत जस की तस बनी हुई है। वहीं बड़े चेहरे अब इस नेटवर्क का साथ छोड़कर जाने लगे हैं। इस कड़ी में वरिष्ठ पत्रकार अरूप घोष और ओंकारेश्वर पांडे का नाम भी शामिल है। दरअसल अरूप घोष समूह के मीडिया डिविजन के सीईओ व एडिटर-इन-चीफ के पद पर कार्यरत थे और यह जिम्मेदारी उन्हें बीते वर्ष के अगस्त महीने में मिली थी।

वहीं इसी साल फरवरी महीने वरिष्ठ पत्रकार ओंकारेश्वर पांडे को सहारा इंडिया मीडिया के प्रिंट एडिशन की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उन्हें राष्ट्रीय सहारा (हिंदी व उर्दू) में बतौर सीनियर ग्रुप एडिटर बनाया गया था। हालांकि इन दोनों ही वरिष्ठ पत्रकारों के प्रयासों के चलते सहारा मीडिया एक बार फिर बदलाव के दौर के गुजरने लगा था और पुन: नेटवर्क को तेजी से खड़ा करने की कवायद शुरू हो गई थी, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर नींव पर सपनों का महल भी खड़ा नहीं हो सका, लिहाजा दोनों ने खुद को अलग कर लिया।

वहीं समूह की स्थिति भी पहले की तरह खराब ही बनी हुई है। बताया जा रहा है कि कर्मचारियों को बीते कुछ महीने की सैलरी तक नहीं दी गई है। 

बता दें कि सहारा इंडिया मीडिया में अरूप घोष की ये दूसरी पारी थी, इससे पहले वे अगस्त, 2002 से नवंबर 2005 तक यहां चैनल हेड और फाउंडर के रूप में कार्यरत थे। उनके नेतृत्व में ही सहारा समयचैनल (अब समय’) की नींव रखी गई थी। इतना ही नहीं उन्होंने उस दौरान समूह के तीन रीजनल चैनलों के लिए कंटेंट तैयार करने में भी मदद की थी।

घोष को प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक दोनों ही माध्यमों में काम करने का लंबा अनुभव है।  उन्होंने कई बड़े मीडिया घरानों के साथ किया। सहारा समयके अलावा उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया’, ‘हिन्दुस्तान टाइम्स’, ‘द स्टेट्समैन’, ‘एनडीटीवी’, ‘चैनल7’ (पहले आईबीएन7 और अब न्यूज18 इंडिया) और न्यूजX’ में विभिन्न पदों पर काम किया है।

 वहीं वरिष्ठ पत्रकार ओंकारेश्वर पांडे की समय न्यूज नेटवर्क में ये दूसरी पारी थी। दस साल पहले वे सहारा समूह के साथ जुड़े हुए थे। उस वक्त वे दिल्ली एडिशन के स्थानीय संपादक हुआ करते थे। पटना एडिशन की लॉन्चिंग में उनकी अहम भूमिका रही है। 17 साल की पहली पारी के दौरान वे बतौर एंकर सहारा टीवी पर नजर भी आते थे। कश्मीर और नार्थ ईस्ट पर उनके शो काफी सराहनीय रहे हैं। उस दौरान वे वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ के साथ शो एंकर किया करते थे।



 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।   



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com