Share this Post:
Font Size   16

जानें, कैसे खुद को नं 1 बता रहे हैं अखबार

Wednesday, 31 January, 2018

मिस्‍बाह मंसूरी ।।

चार साल के लंबे इंतजार के बाद आखिकरकार 18 जनवरी को ‘इंडियन रीडरशिप सर्व’ (IRS 2017)के आंकड़े जारी हो गए हैं। इन आंकड़ों से पता चलता है कि पिछले चार वर्षों में अखबारों की कुल रीडरशपि में नौ प्रतिशत की वृद्धि हुई है। ऐसे में इस सर्वे के आंकड़ों ने प्रिंट मीडिया से जुड़े लोगों को खुश होने का मौका दे दिया है। वहीं, इंडस्‍ट्री के लोगों के बीच प्रतिक्रियाओं एवं चर्चाओं का दौर भी शुरू हो गया है।

इस सर्वे के परिणामों ने प्रिंट पब्लिकेशंस को न सिर्फ उत्‍साहित होने का मौका दे दिया है, बल्कि एक तरह से प्रिंट ब्रैंड्स के बीच जबर्दस्त प्रतिस्पर्धा भी शुरू हो गई है, जो आईआरएस सर्वे के परिणामों के आधार पर खुद को नंबर वन होने का दावा करते हैं और उस आधार पर विज्ञापन हासिल करते हैं। अब इन आंकड़ों के बाद प्रतिद्वंद्वी खुद को नंबर वन होने का दावा कर रहे हैं, और विज्ञापन भी दे रहे हैं। ऐसे में विज्ञापन जगत में भी काफी हलचल है।

यहां यह ध्‍यान देना आवश्‍यक है कि इनमें से अधिकांश विज्ञापन तुलनात्‍मक विज्ञापन रणनीतियों का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। अंग्रेजी अखबार द हिन्‍दू’ (The Hindu) द्वारा इस बावत प्रकाशित किए गए विज्ञापन के अनुसार, उसने चेन्‍नई और तमिलनाडु में लगातार नंबर वन होने का दावा किया है। यदि टाइम्‍स ऑफ इंडिया’ (TOI) की तुलना में दक्षिण भारत में इसके प्रदर्शन की तुलना करें तो इस विज्ञापन के अनुसार टाइम्‍स की रीडरशिप (38.5 लाख) के मुकाबले इसकी रीडरशिप तीस प्रतिशत ज्‍यादा है और यह दक्षिण भारत में नंबर वन बना हुआ है। 


वहीं ‘हिन्‍दुस्‍तान टाइम्‍स’ (HT) के विज्ञापन में कहा गया है कि यह देश के दो प्रमुख मार्केट दिल्‍ली और मुंबई में सबसे ज्‍यादा पढ़ा जाने वाला अखबार बन गया है। विज्ञापन के अनुसार, इन दोनों मार्केट में टाइम्‍स ऑफ इंडियाकी रीडरशिप (23.5 लाख) के मुकाबले इस अखबार की रीडरशिप (24.5 लाख) ज्‍यादा है।

एचटीमीडिया द्वारा जारी विज्ञापन में यह भी दावा किया गया है कि हाल में जारी आईआरएस सर्वे के अनुसार पंजाब में इस अखबार की सबसे ज्‍यादा रीडरशिप (2.68 लाख) है, जो ‘ द ट्ब्यिूनकी रीडरशिप (2.36 लाख) और टाइम्‍स ऑफ इंडियाकी रीडरशिप (0.8 लाख) से ज्‍यादा है।  


वहीं, प्रतिद्वंद्वियों को जवाब देते हुए टाइम्‍स ऑफ इंडियाके विज्ञापन में दावा किया गया है कि अखबार मुंबई और दिल्‍ली-एनसीआर जैसे बड़े बाजारों में काफी आगे है।


इन सबसे अलग हिन्‍दी म्‍यूजिक चैनल 9XM’ संचालित करने वाले 9X Jalwa’ ने भी विज्ञापन के साथ अपना दावा पेश किया  है। 9X Jalwa’ द्वारा जारी विज्ञापन में आज मैं ऊपर, आसमां नीचेकहते हुए दावा किया गया है कि अपने प्रतिद्वंद्वियों जैसे-‘Bindass’, ‘B4U Music’ और सोनी मिक्‍स (B4U Music) के बीच यह तुलना कर रहा है। विज्ञापन के अनुसार, इस मीडिया आउटलेट के वीकली इंप्रेशंस में 85 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई है।  


एचटी मीडिया लिमिटेडकी सहायक कंपनी हिन्‍दुस्‍तान मीडिया वेंचर्स लिमिटेडद्वारा प्रकाशित हिन्‍दी अखबार हिन्‍दुस्‍तान’ (Hindustan) ने भी दावा किया है कि यह बिहार, झारखंड और उत्‍तराखंड में नंबर वन बन गया है और उत्‍तर प्रदेश में यह दूसरे नंबर पर है। अखबार के अनुसार, पांच करोड़ 24 लाख लोगों के दिन की शुरुआत अखबार के साथ होती है। अखबार के अनुसार, यह एक बार फिर देश का दूसरे नंबर का अखबार बन गया है। उत्‍तर प्रदेश में इसकी रीडरशिप की तुलना करें तो अमर उजाला की 95 लाख है और हिन्‍दुस्‍तान की 99 लाख है।

इन दावों को देखकर तो यही लगता है कि प्रिंट इंडस्‍ट्री  के विभिन्न प्रकाशक इन आंकड़ों को लेकर कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com