Share this Post:
Font Size   16

वरिष्ठ पत्रकार विवेक जैन के बड़े भाई की मौत, परिजनों ने हत्या की जताई आशंका...

Thursday, 12 July, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

आगरा के वरिष्ठ पत्रकार विवेक जैन के बड़े भाई ए.के. जैन का शाहजहांपुर में सड़क दुर्घटना में निधन हो गया है। वे वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी थे। बताया जा रहा है कि वे लखनऊ से बरेली जा रहे थे। शाहजहांपुर में हाईवे पर स्वागत ढाबा के सामने सुबह करीब छह बजे उनकी कार एक ट्रक से टकराने के बाद डिवाइडर से जा भिड़ी। इस दुर्घटना में ए.के. जैन की मौके पर ही मौत हो गईजबकि उनके फॉलोअर संदीप की हालत गंभीर है, जिन्हें डॉ. कनौजिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं खास बात ये है कि उनकी कार को चला रहे ड्राइवर नाजिम को खरोंच तक नहीं आई। 

गौरतलब है कि ए.के. जैन वर्तमान में वन विभाग में अपर प्रधान वन संरक्षक के तौर पर लखनऊ में कार्यरत थे। इसके अलावा वह भारत-जापान के सहयोग से चलाए जा रहे प्रोजेक्ट 'जायकाके चीफ प्रोजेक्ट डायरेक्टर भी थे। उनका परिवार आगरा में रहता है। वे ईमानदार और दबंग किस्म के अफसर थे।

वहीं दूसरी तरफ, जैन के परिवारीजनों ने हत्या की आशंका जताई है। ए.के. जैन के भाई विवेक जैन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सीबीआई जांच की मांग की है। परिजनों को ड्राइवर की भूमिका संदिग्ध लगी है। ए.के. जैन को पहले कई बार जान से मारने की धमकी मिल चुकी थी।  

दरअसल, ए.के. जैन ने जून 2017 में वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और अपर मुख्य सचिव संजीव सरन पर कई गंभीर आरोप लगाकर सनसनी फैला दी थी। जैन ने सरन पर नोटबंदी के दौरान करोड़ों रुपए बदलवाने और लंदन-दुबई में करोड़ों रुपए के होटल होने का दावा किया था। इतना ही नहींउन पर विभागीय संसाधनों का अंधाधुंध ढंग से दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए पूरा मामला सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने लाने की चेतावनी भी दी थी।

ए.के. जैन ने आगरा में प्रमुख वन संरक्षक रहते हुए सोनभद्र में हजारों करोड़ रुपए की वन भूमि घोटाले का खुलासा किया था।



समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com