Share this Post:
Font Size   16

अयोध्‍या विवाद से जुड़ी किताब में लिखने से कई पत्रकारों ने इस वजह से कर दिया इनकार

Monday, 04 December, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

अयोध्‍या में छह दिसंबर 1992 को हुए विवादित ढांचा विध्‍वंस के 25 साल पूरे होने जा रहे हैं। इस घटना को लोग अपनी-अपनी तरह से याद कर रहे हैं। इस घटना से जुड़ी बातों और लोगों के अनुभवों को सामने लाने के लिए एक किताब तैयार की गई है।‘Babri Masjid, 25 Years On’ नाम से इस किताब को इसी हफ्ते रिलीज किया जाएगा।

इस किताब में कई पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और कलाकारों के अनुभवों और विचारों को शामिल किया गया है। इस किताब के एडिटर इरफान इंजीनियर हैं। हालांकि इस किताब को लिखने में कुछ मुश्किलों का सामना भी करना पड़ा है क्‍योंकि इस घटना को कवर करने वाले कई पत्रकारों की इतनी कड़वी यादें हैं कि उन्‍होंने इस बारे में कुछ भी कहने से ही इनकार कर दिया है। क्‍योंकि वे नहीं चाहते कि वे यादें दोबारा ताजा हों, जिन्‍हें वे बामुश्किल भुलाने की कोशिश कर रहे हैं।

इस किताब में पत्रकार प्रताप आसबे ने 25 years to reach the trial stage in a special court’ आर्टिकल में बताया है 1992 में उनकी आंखों के सामने कितान वीभत्‍व नजारा था। इस केस में वह गवाह भी रहे थे, जिसके बारे में भी उन्‍होंने अपने अनुभव बयां किए हैं।

ज्ञान के साथ मिलकर इस किताब को प्रकाशित करने वाली दिल्‍ली की रहने वालीं शिक्षाविद और सामाजिक कार्यकर्ता समीना दलवाई ने कहा कि शुरुआत में वह इस घटना से जुड़े लोगों की यादों  को एक जगह संग्रहित करना चाहती थीं। उनका कहना है, ‘ कभी-कभी जब मैं इस घटना के बारे में सोचती हूं, तो अपने गुस्‍से के साथ मुझे उस घटना और उसके बाद क्‍या हुआ, की गइराई समझ में आती है।

दलवाई के साथ मिलकर इस सीरीज को संपादित करने वाले नाटककार रामू रामनाथन का कहना है कि इस बारे में लिखने वालों ने काफी चुनौतीपूर्ण काम किया है। उन्‍होंने कहा, ‘कई पत्रकारों और राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने इस बारे में लिखने से सिर्फ इस वजह से इनकार कर दिया क्‍योंकि विवादित ढांचा विध्‍वंस से जुड़ी हुई उनकी यादें काफी दर्दभरी और कड़वी थीं।’ 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com