Share this Post:
Font Size   16

PC से हटाया ZEE मीडिया का माइक, पत्रकार को वॉट्सएप से भी किया रिमूव

Published At: Tuesday, 09 January, 2018 Last Modified: Tuesday, 09 January, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।  

पंजाब की विपक्षी पार्टी शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने जी मीडिया का अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस से बायकाट कर दिया। अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने पार्टी के मीडिया विंग को निर्देश दिया है कि जी पंजाबी चैनल को किसी भी पार्टी या कार्यक्रम के लिए आमंत्रित न किया जाए।

सोमवार को सुखबीर बादल ने पार्टी ऑफिस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी, जब बादल प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचे, तो उन्होंने जी के लोगो वाला माइक अपने सामने से हटा दिया और पार्टी के मीडिया अधिकारियों से पूछा कि इस चैनल की रिपोर्टिंग टीम को किसने आमंत्रित किया।

हालांकि, इस बीच जी के रिपोर्टर ने कहा कि उन्हें प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए आमंत्रित किया गया था, इसलिए वे इसे कवर करने यहां आए हैं। इस पर सुखबीर ने अपनी मीडिया टीम को तुरंत निर्देश दिया कि भविष्य में जी चैनल को आमंत्रित न किया जाए।

बादल के निर्देश मिलते ही पार्टी की मीडिया टीम ने अपने वॉट्सग्रुप से जी के रिपोर्टर का नाम हटा दिया।

हालांकि इस घटना पर जी के संपादक दिनेश शर्मा ने बताया कि अकाली दल ने लगभग 2 महीने से चैनल के डिबेट शो में हिस्सा लेने के लिए अपने प्रवक्ता को भेजना बंद कर दिया है, जबकि चैनल उन्हें हर रोज डिबेट में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित करता है। 

संपादक ने कहा कि बादल ने पहले भी कुछ मीडिया प्रोग्राम्स में उनके चैनल के माइक को हटा दिया था। चैनल ने कई बार इस मुद्दे पर सुखबीर बादल से कॉन्टैक्ट करने की कोशिश की, लेकिन उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी गई।

दिनेश कुमार के मुताबिक, उनका चैनल हमेशा पेशेवर नैतिकता में विश्वास करता है और हमेशा किसी भी मुद्दे की तटस्थ और निष्पक्ष रिपोर्टिंग करता है।

यहां बता दें कि पिछले साल पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले चैनल और फास्टवे केबल नेटवर्क के प्रबंधन के बीच एक विवाद हुआ था, जिसका  समाधान आज तक नहीं हुआ है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।  



पोल

मीडिया-एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से लगातार आ रही #MeToo खबरों पर क्या है आपका मानना

जिसने जैसा किया है, वो वैसा भुगत रहा है

कई मामले फेक लग रहे हैं, ऐसे में इंडस्ट्री को कुछ ठोस कदम उठाना चाहिए

दोषियों को बख्शा न जाए, पर गलत मामला पाए जाने पर 'कथित' पीड़ित भी नपे

Copyright © 2018 samachar4media.com