Share this Post:
Font Size   16

4 साल बाद नीलेश मिश्रा ने यौन शोषण पर इस हस्ती की सोच का किया खुलासा

Published At: Thursday, 04 January, 2018 Last Modified: Wednesday, 03 January, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

नीलेश मिश्रा बॉलिवुड के तमाम मशहूर गीतों को लिख चुके हैं, फिल्म 'एक था टाइगर' का स्क्रीनप्ले लिख चुके हैं। आप कई ऐसे गाने सुनते होंगेगुनगुनाते भी होंगेजिनके बारे में आपको पता भी नहीं होगा कि वो नीलेश मिश्रा के हैं। स्टोरी टैलिंग की विधा को उन्होंने एक मॉर्डन आयाम दिया हैमूल रूप से पत्रकार नीलेश आज भी गांव कनेक्शन नाम का एक अनोखा प्रयोग करने के चलते चर्चा में हैं। एबीपी न्यूज पर ‘रामराज्य’ नाम का शो भी होस्ट कर चुके हैं। नीलेश मिश्रा ने नई साल में किया है एक अनोखा खुलासा कि कैसे बॉलिवुड के एक टॉप ऐड गुरु का मानना था कि गांव में अपने बीवी-बच्चों को छोड़कर आए सेक्स के भूखे लोग ही शहरों में यौन अपराधों को बढ़ा रहे हैं।

ये बात उस ऐड गुरु ने एक टीवी डिबेट के दौरान बोली थीजिस डिबेट में उस ऐड गुरु के साथ नीलेश मिश्रा भी मौजूद थे। ये बात नीलेश मिश्रा ने उसी साल यानी 2013 में भी अपने फेसबुक पेज पर लिखी थीकि कितनी गलत सोच है इन तथाकथित बड़े लोगों की। लेकिन उस पोस्ट में नीलेश ने उस ऐडगुरु के नाम का खुलासा नहीं किया थाजो अब यानी 2 जनवरी को उसी 2013 वाली पुरानी पोस्ट को शेयर करते हुए कर दिया है। नीलेश मिश्रा ने लिखा है, ‘Still true. Ad industry folks: It was Alyque Padamsee, by the way.। और एलिक पदमसी वाकई में ना केवल ऐड जगत का वो हस्ती है, जिन्हें तमाम फोरम्स पर उनके विचार जानने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

अब पढ़िए वो जो एलिक पदमसी ने उस शो में बोला था, उन्होंने कहा था,‘Sexual exploitation is happening because of men who keep their wives in villages and are sex starved’ 

अब इस बयान को शेयर करते हुए 2 जनवरी 2013 को नीलेश मिश्रा ने अपनी राय भी लिखी थीजो काफी तीखी थीवो भी पढ़िए, ‘Am appalled at the illiteracy of some of these opinion-makers from the plush world. They still believe that sexual exploitation is done ONLY by the poor. And these are the people who supposedly shape national opinion!’

साफ है नीलेश संवेदनशील व्यक्ति हैंचाहे उनकी रिपोर्ट्स होंगाने हों या कहानियांवो संजीदगी उनमें झलकती आई है। ऐसे में जबकि उनका ड्रीम प्रोजेक्ट खुद गांव और गांव वालों से जुड़ा हो तो गांव के गरीब लोगों के माथे पर कोई इतने बड़े क्राइम का ठीकरा फोड़ दे तो आशाराम और तरुण तेजपाल जैसे लोगों का बचाव आसान हो जाएगा।

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

 



पोल

मीडिया-एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से लगातार आ रही #MeToo खबरों पर क्या है आपका मानना

जिसने जैसा किया है, वो वैसा भुगत रहा है

कई मामले फेक लग रहे हैं, ऐसे में इंडस्ट्री को कुछ ठोस कदम उठाना चाहिए

दोषियों को बख्शा न जाए, पर गलत मामला पाए जाने पर 'कथित' पीड़ित भी नपे

Copyright © 2018 samachar4media.com