Share this Post:
Font Size   16

अपने ऊपर उठे सवालों का 'BARC' ने कुछ यूं दिया करारा जवाब...

Published At: Tuesday, 08 May, 2018 Last Modified: Monday, 07 May, 2018

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

देश भर में टेलिविजन व्‍युअरशिप को सही रूप से मापने के लिए 'ब्रॉडकास्‍ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल इंडिया' (BARC India) का गठन किया गया है। बताया जाता है कि 'BARC India' को इसके सबस्‍क्राइबर्स से फीडबैक मिला है कि इसके गठन और कार्यों को लेकर जनता में दुर्भावानापूर्ण तमाम तरह की तथ्‍यहीन व आधारहीन खबरें फैलाई जा रही हैं। ऐसे में 'बार्क इंडिया' का मानना है कि अपनी शुचिता और पारदर्शिता को ध्‍यान में रखते हुए अपने शेयरधारकों के बीच कुछ आवश्‍यक प्‍वाइंट्स उजागर करना बहुत जरूरी है।

'बार्क इंडिया' एक जॉइंट इंडस्‍ट्री बॉडी है, जिसे 'इंडियन ब्रॉडकास्टिंग फाउंडेशन' (IBF), 'इंडियन सोसायटी ऑफ एडवर्टाइजर्स' (ISA) और 'एडवर्टाइजिंग एजेंसीज एसोसिएशन इंडिया' (AAAI) द्वारा कंपनीज एक्‍ट के सेक्‍शन आठ के तहत गठित किया गया है। यह एक ऋण वित्‍त पोषित कंपनी है, जिसमें किसी तरह का प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (Foreign Direct Investment) नहीं किया गया है।

'IBF', 'ISA' और 'AAAI' के द्वारा प्रमोट होने के कारण बार्क इंडिया पर किसी अन्‍य ब्रॉडकास्‍टर/एडवर्टाइजर/एजेंसी का स्‍वामित्‍व नहीं है और न ही किसी अन्‍य कंपनी का इस पर नियंत्रण है। ऐसे में किसी के भी पक्ष में इसके प्रभावित होने का सवाल ही नहीं होता है। इसके अलावा इसकी संरचना इस तरह की है कि यह अपने सभी शेयरधारकों से समान संबंध सुनिश्चित करती है।  

इस बारे में 'IBF' के प्रेजिडेंट पुनीत गोयनका का कहना है, 'हमें यह कहने में गर्व है कि 'बार्क इंडिया' अत्‍यंत पारदर्शी और तटस्‍थ माहौल में काम करती है। इंडस्‍ट्री के लिए इसके डाटा बहुत मायने रखते हैं। हम हमेशा इसकी टीम को इसी तरह का बेहतर काम करने के लिए प्रोत्‍साहित करेंगे और इस तरह के बयानों से विचलित होने की जरूरी नहीं है। बार्क इंडिया के पास अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर का मीजरमेंट सिस्‍टम है और इसके लिए इंडस्‍ट्री को इस पर गर्व होना चाहिए।'   

उनका कहना है, 'बार्क इंडिया का सिस्‍टम और इसकी प्रक्रिया इंडस्‍ट्री के लोगों को काफी पसंद आई है और अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर भी इसकी सराहना भी हुई है। बार्क के डाटा की विश्‍वसनीयता और मजबूती की पुष्टि 'Ernst & Young' और 'CESP' जैसी अंतरराष्‍ट्रीय फर्म द्वारा लगातार जांच प्रक्रिया और ऑडिट से की जाती है। यूएस में 90,000 सैंपल के मुकाबले भारत में 135,000 सैंपल के साथ यह दुनियाभर में इसका सबसे बड़ा टीवी सैंपल/पैनल है।'

'इंडियन सोसायटी ऑफ एडवर्टाइजर्स' के चेयरमैन सुनील कटारिया का कहना है, 'बार्क इंडिया ने इंडस्‍ट्री को एक टीवी रेटिंग सिस्‍टम दिया है जो पूरे देश भर में काफी बड़े सैंपल साइज को कवर करता है और इसके आंकड़े हमेशा विश्‍वसनीय रहते हैं। बार्क इंडिया के डाटा की बदौलत ही एडवर्टाइजर्स को कंज्‍यूमर्स की पसंद को जानने और उसके अनुसार अपनी पहुंच बढ़ाने में मदद मिलती है फिर चाहे वह ग्रामीण अथवा दूरस्‍थ क्षेत्र क्‍यों न हो। चूंकि इसके द्वारा डाटा सत्‍यता की कसौटी पर खरे होते हैं और वे वास्‍तविक होते हैं, जिसके कारण एडवर्टाइजिंग इंडस्‍ट्री को निर्णय लेने में काफ आसानी रहती है।

उन्‍होंने बताया कि बार्क इंडिया का गठन 'भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण' (Telecom Regulatory Authority of India) की सिफारिशों के तहत स्‍वनियामक मॉडल के अनुरूप किया गया है। चूंकि जॉइंट वेंचर बॉडी के तहत इसका गठन हुआ है, इसलिए इसका कोई भी बोर्ड मेंबर किसी खास कंपनी का प्रतिनिधित्‍व नहीं करता है। वे सिर्फ अपनी शेयरधारक इकाइयों का प्रतिनिधित्‍व करते हैं और उनके द्वारा ही इन मेंबर्स का नॉमिनेशन होता है।   

वहीं, 'एडवर्टाइजिंग एजेंसीज एसोसिएशन इंडिया' (AAAI) के प्रेजिडेंट और 'बार्क इंडिया' के चेयरमैन नकुल चोपड़ा का कहना है, 'मैं इन गलत और आधारहीन आरोपों से काफी निराश हूं, जिनमें किसी तरह का कोई तथ्‍य नहीं है। बार्क इंडिया की तो इस बात पर सराहना होनी चाहिए कि इसके द्वारा अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर का मीजरमेंट सिस्‍टम तैयार किया गया है और इंडस्‍ट्री को सही और निष्‍पक्ष डाटा उपलब्‍ध कराए जा रहे हैं। इन डाटा की बदौलत ही कई इंडस्‍ट्रीज को अपने आर्थिक विकास की दिशा में बेहतर निर्णय लेने में मदद मिल रही है।' उन्‍होंने कहा, 'बार्क इंडिया अपने डाटा यूजर्स की जरूरतों को समझती है और यह अपने आंकड़ों के द्वारा विश्‍वास को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है।'

बार्क के बारे में पूरी जानकारी, जैसे- इसकी मैनेजमेंट टीम और बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर्स का प्रोफाइल और परिचालन संबंधी जरूरी कागजात इसकी आधिकारिक वेबसाइट www.barcindia.co.in पर उपलब्‍ध हैं।

 


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

सबरीमाला: महिला पत्रकारों को रिपोर्टिंग की मनाही में क्या है आपका मानना...

पत्रकारों को लैंगिक भेदभाव के आधार पर नहीं देखा जाना चाहिए

मीडिया को ऐसी बातों के खिलाफ एकजुट होकर आवाज उठानी चाहिए

महिला पत्रकारों को मंदिर की परंपरा का ध्यान रखना चाहिए

Copyright © 2018 samachar4media.com