Share this Post:
Font Size   16

BBC की विश्वसीयनता भुनाने की कोशिश, नाम का गलत इस्तेमाल

Published At: Saturday, 01 December, 2018 Last Modified: Tuesday, 04 December, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

देश में ‘फेक न्यूज’ की समस्या लगातार बढ़ रही है। फेसबुक और वॉट्सऐप जैसे सोशल मीडिया मंचों का इस्तेमाल गलत और झूठी सूचनाएं फैलाने के लिए धड़ल्ले से किया जा रहा है और यह तब और ज्यादा देखने को मिल जाता है, जब देश में चुनावी माहौल हो। इसी तरह की एक फेक न्यूज बीबीसी के नाम से वायरल की जा रही है, जिसमें राजस्थान विधानसभा चुनावों को लेकर एक फर्जी ओपिनियन पोल दिखाया गया है।

सोशल मीडिया फेसबुक और ट्विटर पर तेजी से वायरल किए जा रहे इस फर्जी ओपिनियन पोल में बीबीसी के होम पेज के साथ कांग्रेस और बीजेपी की संभावित सीटों की संख्या लिखी गई हैं, जोकि जून से लेकर आज तक के मासिक सर्वे के आधार पर तैयार की गई है। इसमें जून में कांग्रेस की सीटें 160+ और बीजेपी की 30 सीटें बताई गई हैं। इसके बाद हर महीने कांग्रेस की सीटों को घटाया गया और बीजेपी की सीटों को बढ़ाया गया है। अंत में कहा गया है, ‘अगर यह सिलसिला जारी रहा तो 11 दिसंबर को हमें कांग्रेस की 85 और बीजेपी की 110 सीटें देखने को मिल सकती हैं।’

लेकिन यहां ये बता दें कि बीबीसी ने इस ओपिनयन पोल का खंडन किया है और इसे पूरी तरह से फर्जी बताया है। बीबीसी के मुताबिक, वह इस तरह का कोई भी ओपिनियन पोल या सर्वे नहीं करवाया है।  

गौरतलब है कि बीबीसी अपनी नीति के तहत चुनाव से पहले इस तरह के सर्वे नहीं करवाता है और इसकी घोषणा हिंदी के संपादक मुकेश शर्मा भी कई बार सार्वजनिक मंच से कर चुके हैं, क्योंकि इस तरह की दुष्प्रचार पहली बार नहीं है। इसके पहले भी 2017 में उत्तर प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव से पहले भी इसी तरह का दुष्प्रचार किया गया था। उस समय भी बीबीसी ने अपना रुख स्पष्ट किया था कि न तो बीबीसी चुनावी सर्वेक्षण करवाता है और न ही किसी एक पक्ष की ओर से किए गए सर्वे को प्रकाशित करता है।

 



Copyright © 2018 samachar4media.com