Share this Post:
Font Size   16

राहुल गांधी को लेकर किए गए राहुल कंवल के ट्वीट पर बवाल, आप भी दीजिए अपनी राय...

Published At: Saturday, 21 July, 2018 Last Modified: Monday, 23 July, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को लेकर संसद में शुक्रवार को जो कुछ हुआ, उसे लेकर अब एक नई बहस छिड़ गई है। सोशल मीडिया पर अब भी ये मुद्दा ट्रेंड कर रहा है और पीएम नरेंद्र मोदी एवं राहुल गांधी के समर्थक एक-दूसरे को सही-गलत साबित करने में लगे हैं। इन समर्थकों के अलावा ट्विटर पर दो वरिष्ठ पत्रकारों के बीच भी जुबानी जंग चल रही है।

 दरअसल, अविश्वास प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद में अपना भाषण दिया, इस दौरान उन्होंने न केवल मोदी सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए बल्कि अंत में पीएम मोदी की कुर्सी पर जाकर उन्हें गले भी लगाया।

 इस बीच अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘हेडलाइन टुडे’ के एग्जिक्यूटिव एडिटर राहुल कंवल ने राहुल गांधी को लेकर ट्वीट करने शुरू कर दिए। उन्होंने ‘पप्पू पास हो गया, या भूकंप आ गया?’ जैसे सवाल भी यूजर्स से पूछे। इसके जवाब में वरिष्ठ मराठी पत्रकार निखिल वागले ने भी कुछ ट्वीट कर डाले, जिसके बाद दोनों के बीच जंग शुरू हो गई। इस जंग में दोनों के समर्थकों ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।



कंवल के ट्वीट के जवाब में निखिल ने लिखा, ‘राहुल गांधी का भाषण अभी खत्म भी नहीं हुआ और राहुल कंवल ने उन पर हमले शुरू कर दिए। अब इसे क्या कहा जाए?’



राहुल भी कहां पीछे रहने वाले थे, उन्होंने भी तुरंत ट्वीट कर डाला। राहुल ने लिखा, ‘डूड, मैं अपना काम कर रहा हूं। यदि आप थोड़े कम पक्षपाती थे, तो आप भी करेंगे। लेकिन शायद आप से ऐसी अपेक्षा करना बहुत ज्यादा है’।



राहुल कंवल के ट्वीट पर कमेंट करते हुए कुनाल कामरा नामक यूजर ने एक फोटो पोस्ट की है, जिसमें राहुल किसी बर्फीले स्थान पर एक युवती के साथ नज़र आ रहे हैं। कामरा ने लिखा है ‘बिल्कुल राहुल, आप लोकतंत्र के चौथे स्तंभ हैं।’ 



ऐसे ही @SarcasticRofl ने ट्वीट किया है, ‘राहुल... आपको कभी निष्पक्ष नहीं देखा, आप पूरी तरह से केवल एक चीज़ के लिए प्रतिबद्ध हैं, और वो है ‘भक्ति’।



राहुल पर निशाना साधते हुए @FightAnand ने लिखा है ‘बिल्कुल आप अपनी नौकरी कर रहे हैं राहुल। वागलेजी आपको यह पता होना चाहिए। राहुल कंवल पक्षपाती नहीं हैं, उन्हें जिस काम के लिए पैसा दिया जा रहा है वो वही कर रहे हैं’। 



इसी तरह यूजर आरती सिंह ने कहा है ‘भाजपा द्वारा दी गई नौकरी।’ 



हालांकि, यह मामला यहीं ख़त्म नहीं हुआ, अपने ट्वीट पर राहुल के जवाब के बाद निखिल वागले ने एक और ट्वीट किया। उन्होंने राहुल से पूछा कि क्या तुम वही नहीं हो जो योगी आदित्यनाथ को मौका देना चाहते थे? वैसे ऐसा नहीं है कि सभी यूजर्स ने वागले का समर्थन किया।



गौरव जगन नामक यूजर ने लिखा है, ‘वागलेजी कांग्रेस की चमचागिरी बंद कीजिए।’ इसी तरह @patla_adnan ने लिखा है ‘क्या आप वही हैं, जिन्होंने अपनी पत्रकारिता को बहुत कम दामों में बेच दिया’?



वहीं, डॉक्टर साधना लिखती हैं ‘पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए, राजनीतिक दलों का समर्थन पत्रकारिता नहीं है और ये बात आप दोनों पर लागू होती है।’



@shantilalhajeri नामक यूजर ने निखिल को निशाना बनाते हुए कहा है ‘आपने राहुल गांधी का गुणगान करना शुरू कर दिया, इसे क्या कहा जाए?’।




पोल

मीडिया में सर्टिफिकेशन अथॉरिटी को लेकर क्या है आपका मानना?

इस कदम के बाद गुणवत्ता में निश्चित रूप से सुधार आएगा

मीडिया अलग तरह का प्रोफेशन है, इसकी जरूरत नहीं है

Copyright © 2018 samachar4media.com