Share this Post:
Font Size   16

सोशल मीडिया पर क्यों छिड़ी है अखिलेश और आशुतोष में जंग...

Thursday, 28 June, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।


सोशल मीडिया पर साझा किए गए विचार कभी-कभी विवाद को जन्म दे देते हैं। एनडीटीवी इंडिया के वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश शर्मा के एक ट्वीट पर हाल ही में खासा बवाल मचा। पहले तो कुछ लोगों ने उनकी सोच पर आपत्ति जताई, फिर जैसा ही अकसर होता है व्यक्तिगत हमले किए जाने लगे। हालांकि अखिलेश ने भी इन हमलों का जवाब दिया। इस विवाद में बड़ा मोड़ तब आया, जब पत्रकार से राजनेता बने आम आदमी पार्टी के आशुतोष गुप्ता इसका हिस्सा बन गए।


दरअसल, दिल्ली में रिहायशी इलाकों के निर्माण के लिए 14 हजार पेड़ काटे जाने हैं, जिसका पुरजोर तरीके से विरोध हो रहा है। आम आदमी पार्टी ने इसकी खिलाफत में चिपको आंदोलनकी तर्ज पर आंदोलन भी चलाया था। इसी पर सवाल उठाते हुए अखिलेश शर्मा ने ट्वीट किया, ‘पेड़ नहीं काटने चाहिए, बांध नहीं बनने चाहिए, पहाड़ों पर सड़क नहीं बननी चाहिए ये बातें कई लोग कहते हैं। लेकिन यह नहीं बताते कि सबको बिजली, पानी, सड़क और घर कैसे दिया जाए? सारी समस्याओं की जड़ जनसंख्या है उसको कम करने को कहें तो सांप्रदायिक होने का ठप्पा भी यही लोग लगा देंगे’!!!   



कुछ ही देर में ये ट्वीट वायरल हो गया। यूजर अखिलेश के ट्वीट धर्म से जोड़कर टिप्पणी करने लगे, इसके जवाब में अखिलेश ने ट्वीट किया, ‘वही तो मैंने कहा धृतराष्ट्रजी। मेरे लिखे को दोबारा पढ़िए। आम आदमी पार्टी के अनपढ़ गंवार समर्थकों की तरह बात न करें। इसके बाद तो आप समर्थक अखिलेश को निशाना बनाने लगे।

AnjaliSS नाम के आप समर्थक ने अखिलेश के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया, जिसका अखिलेश ने ये कहते हुए जवाब दिया कि अब ऐसे लोगों को अनपढ़-गंवार न कहें तो क्या कहें? इनकी शैक्षणिक योग्यता कौन बताएगा’? अखिलेश ने अपने इस ट्वीट में आशुतोष को भी टैग कर दिया।


ऐसे में आशुतोष का जवाब देना लाज़मी था। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, ‘प्रिय भाई अखिलेश, प्लीज अपनी शैक्षणिक योग्यता बताने का कष्ट करे। मैं तो बीएससी, एमए (दर्शन शास्त्र), एमए (अंतरराष्ट्रीय राजनीति), एमफ़िल हूं


आशुतोष के इस ट्वीट में हिंदी व्याकरण संबंधी गलतियों को पकड़ते हुए अखिलेश ने एक और ट्वीट दागा, उन्होंने कहा, ‘मैं आपसे कम पढ़ा-लिखा हूं पर ट्वीट लिखने में वर्तनी की गलतियां कम करता हूं। मेरा आक्षेप उन आप समर्थकों पर था जो जनसंख्या के बारे में मेरे ट्वीट को जानबूझकर सांप्रदायिक रंग दे रहे थे। आम आदमी पार्टी के नेताओं या कार्यकर्ताओं के बारे में मैंने नहीं कहा। कृपया अन्यथा न लें। इसके बाद तो जैसे दोनों के बीच ट्वीट वॉर छिड़ गई।


अपने जवाब में आशुतोष ने कहा कि सवाल अन्यथा लेने का नहीं है। सवाल है जो बात आप’ के बारे में आप घसीट कर लिख देते है क्या उतनी तेजी से आप बीजेपी या मोदी/अमित के बारे में लिखते हैं? अगर, हां तो मुझे कुछ नहीं कहना। किसी ने आपको गाली दी है तो पुलिस में शिकायत करें, चाहे वो आप का ही सदस्य क्यों न हो?


इसके तुरंत बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया, ‘भाई अखिलेशजितनी गालियां संघी मुझे देते हैंआप सोच भी नहीं सकतेवो क्या लिखते हैमैं पढ़ता ही नहीं। खैरइस शख्स के खिलाफ आप पुलिस में ज़रूर शिकायत करें। चाहे ये आप का ही सदस्य क्यों न हो! वर्तनी पर जरूर ध्यान दूंगा। दो योद्धाओं के बीच सोशल मीडिया पर छिडे इस द्वन्द पर दोनों ही तरह से ढेरों प्रतिक्रियाएं आईं। हालांकि ये कहना गलत नहीं होगा कि अखिलेश के जवाबों की धार विरोधियों के वार से ज्यादा तेज थी।



 


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Tags headlines


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com