Share this Post:
Font Size   16

'वर्चुअल रियलिटी' की दिशा में 'बीबीसी' ने उठाया ये बड़ा कदम...

Published At: Tuesday, 27 February, 2018 Last Modified: Monday, 26 February, 2018

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

तकनीक की दुनिया में इस साल 'वर्चुअल रियलिटीया VR की बड़ी चर्चा हो रही है। 'बीबीसी न्‍यूज' (BBC News) की ओर से वर्चुअल रियलिटी की दिशा में महत्‍वपूर्ण कदम उठाया गया है। दरअसल, बीबीसी हमेशा अपने ऑडियंस को कुछ नया देने का प्रयास करता रहता है और इसी के तहत वर्चुअल रियलिटी पर उसने पहली डॉक्‍यूमेंट्री सीरीज शुरू की है।

नील नदी और इसके बांध के बारे में लोगों को जानकारी देने के लिए 'बीबीसी न्‍यूज' और 'बीबीसी वीआर हब' द्वारा ' Damming the Nile' नामक वर्चुअल रियलिटी की डॉक्‍यूमेंटी सीरीज प्रस्‍तुत की गई है। यह सीरीज दो भागों में है। इनमें आधा घंटे का कार्यक्रम 'बीबीसी वर्ल्‍ड न्‍यूज' पर है और 'बीबीसी वर्ल्‍ड सर्विस' पर रेडियो डॉक्‍यूमेंट्री है। इसके साथ ही ' BBC.com' पर विडियो और टेक्‍स्‍ट भी मौजूद है। वहीं, 'वर्चुअल रियलिटी' हब बीबीसी के वर्चुअल रियलिटी प्रॉडक्‍शन को विस्‍तार देने के साथ ही यह बताता है कि कैसे इस तकनीक के इस्‍तेमाल द्वारा ऑडियंस को प्रभावित किया जा सकता है।


बीबीसी ने ' Oculus Store' पर एक एप भी लॉन्‍च किया है। यहां पर Samsung Gear VR के द्वारा बीबीसी के वर्चुअल कंटेंट को एक्‍सेस किया जा सकता है। चूंकि वर्चुअल कंटेंट डिवाइस अभी उतनी चलन में नहीं है। इसलिए इस डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍म का वर्जन 360विडियो फॉर्मेट पर उपलब्‍ध करा दिया गया है।

दरअसल, 'वर्चुअल रियलिटीअसल में वो तजुर्बा हैजो आप तकनीक के जरिये कोई फ़िल्म या टीवी शो देखते समय करते हैं। इसमें हेडसेट या मोबाइल के ज़रिए आप फ़िल्म देखते हैंया गेम खेलते हैं। उस दौरान आपको ऐसा अहसास कराया जाता है कि आप उस जगह पर मौजूद हैंजहां वो घटनाएं हो रही हैं।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Tags headlines


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com