Share this Post:
Font Size   16

जल्‍द लॉन्‍च हो रहा है स्टार का ये नया चैनल, होगी ये खासियत

Published At: Monday, 21 August, 2017 Last Modified: Monday, 21 August, 2017

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

स्‍टार इंडिया’ (Star India) 28 अगस्‍त की शाम छह बजे से नया चैनल स्‍टार भारत’ (STAR BHARAT) लेकर आ रहा है। ‘स्टार भारत’ ऐसी प्रेरक कहानियों का ख़जाना होगा, जो भयमुक्त भारत के निर्माण में सहयोग करेंगी। चैनल पर दिखाए जाने वाले कार्यक्रमों का मकसद सुदृढ़ और जड़ों से जुड़े हुए ऐसे चरित्रों का निर्माण करना हैजो चैनल की फिलॉसफी ‘भुला दे डरकुछ अलग कर’ की भावना को आगे बढ़ाएंगे।

इसके लिए स्‍टार भारतने मत करके नाम से एक कैंपेन भी लॉन्‍च किया है, जिसके पीछे बहुत साधारण लेकिन मजबूत धारणा है कि कैसे हम लोगों द्वारा टोके जाने पर जाने-अनजाने में अपने भीतर कई तरह के डर पाल लेते हैं और कैसे ये डर हमें अपने सपने पूरे करने से रोक देते हैं। इस कैंपेन को चक दे इंडिया’ फिल्‍म के डायरेक्‍टर शिमित अमीन के निर्देशन में स्‍टार इंडिया की क्रिएटिव टीम ने तैयार किया है और इसमें मत करके डर को भुला दे डरके नाम से दिखाया गया है।   

ओम शांति ओम (Om Shanti Om:) : चौनल पर प्रसारित किया जाने वाला संगीत का रियलिटी शो ‘ओम शांति ओम’ अपने नाम के अनुरूप भक्ति संगीत के माध्यम से दर्शकों के मन को शांति प्रदान करने वाला होगा। इसमें भक्ति संगीत की महक होगी जिसमें दर्शकों को संगीत के सामयिक रंग के साथ भक्ति संगीत का अनूठा संगम देखने और सुनने को मिलेगा। यह ऐसा रियलिटी शो है जिसमें परंपरागत और आधुनिक संगीत का मेल संगीत की एक ऐसी नई शैली का सृजन करेगाजिसे ‘ट्रेडिशनल’ संगीत भी कह सकते हैं। इस शो में जाने-माने योगगुरु स्वामी बाबा रामदेव  पहली बार टेलीविजन पर महा-जज बनेंगे। अन्‍य निर्णायकों में बॉलिवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हागायक और निर्देशक शेखर रवजियानी और कणिका कपूर शामिल हैं।

क्‍या हाल मिस्‍टर पांचाल?’ (KyaHaalMr.Panchaal?) : जो दर्शक अपने आराम के पलों में कुछ खट्टा-मीठा देखकर वक्त बिताना चाहते हैंउनके लिए होगा आप्टिमीमिटिक्स द्वारा निर्मित शो ‘क्या हाल मिस्टर पांचाल?’ ये मजेदार घटनाओं से भरपूर सीरियल होगा,जिसमें सासबेटा और पांच बहुरानियां हैंजो मिलकर नया तमाशा खड़ा करेंगे। दरअसल इस शो में एक मां अपने बेटे के लिए भगवान से एक परफेक्‍ट बहू की मांग करती है, जबकि उसके घर में पांच बहुएं आ जाती हैं। ऐसे में यह देखना काफी दिलचस्‍प होगा कि कैसे एक मां की आरजू इस वरदान के बाद निराशा में बदल जाती है और उसकी जिंदगी में क्‍या-क्‍या बदलाव आते हैं। इसमें कंचन गुप्‍ता सास जबकि मनिंदर सिंह बेटे की भूमिका निभा रहे हैं।


निमकी मुखिया’ (NimkiMukhiya):  ‘निमकी मुखिया’ शो बदलते वक्‍त में महिला सशक्‍तीकरण और नारी जीवन में आने वाले बदलावों को प्रस्तुत करता है। ये शो बिहार के ग्रामीण इलाकों में पुरूष प्रधान समाज पर सशक्त तरीके से चोट करती हुई गांव में रहने वाली एक लड़की निमकी के मुखिया बनने की कहानी है। ये कहानी एक महिला की आत्मशक्ति दिखाने वाली कहानी है जो अपनी ताकत के दम पर हालात बदलने में कामयाब हो जाती है।

साम, दाम, दंड, भेद’ (SaamDaamDandBhed): 

यह शो विजय नामधारी नामक युवक के बारे में है,  जो सक्षम तो है पर खुद नहीं जानता कि वो जिंदगी से क्या चाहता है?  फिर उसकी जिंदगी में एक तूफान आता है जो सबकुछ बिखेर देता है। विजय अपनी हिम्मत बटोरकर किसी तरह परिवार की सुरक्षा करता है। विजय का रोल निभाया है भानु उदय ने। इस शो में एक लापरवाह युवा के राजनेताओं बनने की कहानी दिखाई गई है, जो कई लोगों को प्रेरणा देने का काम करेगा। इस शो का निर्माण शाकुंतलम टेलीफिल्म्ज ने किया है।

आयुष्‍मान भव (AyushmanBhav) : 

मथुरा की पृष्ठभूमि पर आधारित यह आठ साल के बच्‍चे ‘कृष’ की दिलचस्प कहानी है। कृष का बचपन दूसरे बच्चों से काफी अलग है । वो खिलौने खेलता है,  पर उसके साथ जो पूर्व में घटा है वो उसके लिए न्याय चाहता है। व्हाइट हाउज इंटरनेशनलद्वारा निर्मित यह शो एक बच्चे के कहानी हैजिसे निभाया है रिक्की पटेल ने। इसके अलावा अविनाश सचदेवा,मेघा गुप्ता और मनीष गोयल ने इसमें भूमिका निभाई है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Tags headlines


पोल

सबरीमाला: महिला पत्रकारों को रिपोर्टिंग की मनाही में क्या है आपका मानना...

पत्रकारों को लैंगिक भेदभाव के आधार पर नहीं देखा जाना चाहिए

मीडिया को ऐसी बातों के खिलाफ एकजुट होकर आवाज उठानी चाहिए

महिला पत्रकारों को मंदिर की परंपरा का ध्यान रखना चाहिए

Copyright © 2018 samachar4media.com