Share this Post:
Font Size   16

नए साल में अपना सरनेम बदलने की सोच रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार पकंज पचौरी!

Sunday, 31 December, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

पंकज पचौरी वरिष्ठ पत्रकार हैं, देश का जाना पहचाना चेहरा हैं, एनडीटीवी में सालों तक एंकर रहे, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे और अब गो न्यूज़ मीडिया समूह का सचालन कर रहे हैं लेकिन विराट कोहली से उनकी क्या अदावत है कोई समझ नहीं पा रहा है। इस महीने में ये दूसरी बार है कि वो ट्विटर पर विराट कोहली फैन्स के निशाने पर आ गए हैं।

दिलचस्प बात ये है कि अभी तक इस पूरे मामले में विराट कोहली खुद सामने नहीं आये हैं, या उनको पता ही नहीं है। पहला विवाद तब हुआ जब विराट कोहली की अनुष्का शर्मा से शादी की तारीख और वेन्यू के बारे में खुलासा हुआ। तब पंकज पचौरी ने एक ट्वीट किया, जिसका लब्बोलुआब ये था कि देश से बाहर जाकर इटली में शादी करने से देश के टूरिज़्म सेक्टर को झटका लगेगा। अब हर कोई शादी करने इटली भागेगा।

ख़ुशी के मौके पर पंकज का ये ट्वीट विराट कोहली के फैंस को बैड टेस्ट का लगा, सो जमकर उन्होंने पंकज पचौरी को धोया, कहा कि आपको इनवाइट नहीं मिला होगा, आप मीडिया वालों से ही बचने के लिए वहां गए हैं आदि। लेकिन ये महीना और साल ख़तम भी नहीं हुआ की पंकज पचौरी ने फिर से विराट कोहली को लपेट लिया है, जबकि अबकी बार तो विराट कोहली से जुड़ा कोई मसला भी नहीं है।

जब पद्मावती फिल्म का नाम पद्मावत करने की खबर आयी तो पंकज पचौरी ने एक ट्वीट किया, ''Seriously thinking of changing surname from Pachauri to Pachaur in a #NewYearResolution for larger acceptability among the believers. Will wait for a cue from @imVkohli if he becomes Kohl.

 #Padmavat not #Padmavati''। 

इस ट्वीट के बाद कोहली के फैन और भड़क गए हैं। लिख रहे हैं कि तुम अपना नाम कचौड़ी रखो या कचरा कोहली का नाम बिना बात के घसीटने की क्या जरूरत है? एक ने तो लिखा है कि कोहली के बजाय राहुल गांधी के सरनेम से आखिरी का 'i'  हटाकर दिखाओ तो मान जाएँ। अभी तक विराट कोहली खामोश ही रहे हैं, ये अलग बात है कि पंकज पचौरी ने उन्हें दोनों बार ही टैग भी किया है।


Tags headlines


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com