Share this Post:
Font Size   16

पैराडाइज पेपर्स: पत्रकार-संपादक रहे आर.के सिन्हा ने प्रतिक्रिया में लिखे 8 शब्द...

Monday, 06 November, 2017


सोमवार सुबह से ही अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित पैराडाइज पेपर्स की खबर के बाद से ही हर तरफ यही मुद्दा चर्चा में बना हुआ है। केंद्रीय मंत्री समेत कई शख्सियतों के इसमें नाम शामिल है। एसआईएस सिक्यूरिटी एजेंसी के आर.के.सिन्हा जो पत्रकार और संपादक भी रह चुके हैं, उनका भी इसमें नाम है।

इंडियन एक्सप्रेस समूह की हिंदी वेबसाइट जनसत्ता डॉट कॉम में प्रकाशित एक खबर के मुताबकि, आज सुबह जब समाचार एजेंसी एएनआई के संवाददाता ने जब उनसे इस पर प्रतिक्रिया जाननी चाही तो सिन्हा ने इशारों में ही संवाददाता से कलम मांगी और कागज पर ये 8 शब्द लिखकर अपनी प्रतिक्रिया की है। उन्होंने लिखा, ‘7 दिन के भागवत यज्ञ में मौनव्रत है।‘ 

उल्लेखनीय है कि सिन्हा साल 2014 में बिहार से राज्यसभा सांसद चुने गए हैं। वो संसद के ऊपरी सदन में सबसे अमीर सांसदों में एक हैं। सिन्हा पत्रकार भी हैं, जिन्होंने सिक्योरिटी एंड इंटेलिजेंस सर्विसेज (एसआईएस) नाम से प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विस फर्म की स्थापना की है। सिन्हा एसआईएस ग्रुप को हेड करते हैं। इनके फर्म के संबंध दो विदेशी कंपनियों से भी हैं। माल्टा के रजिस्ट्री डिपार्टमेंट के दस्तावेजों के मुताबिक एसआईएस एशिया पैसिफिक होल्डिंग्स लिमिटेड (एसएपीएचएल) साल 2008 में माल्टा में रजिस्टर्ड हुई है। यह एसआईएस की सहयोगी कंपनी है। रविन्द्र किशोर सिन्हा इस कंपनी के छोटे से शेयरहोल्डर हैं जबकि उनकी पत्नी रीता किशोर सिन्हा इस कंपनी (एसएपीएचएल) की डायरेक्टर हैं।


Tags headlines


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com