Share this Post:
Font Size   16

महिलाओं के लिए रिजर्वेशन बिल पास हो, बोलीं सुमैरा खान, एंकर, Zee Hindustan

Published At: Monday, 12 March, 2018 Last Modified: Monday, 12 March, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

जी समूह के न्यूज चैनल 'जी हिन्दुस्तान' की जानी-मानी न्यूज एंकर और एडिटर (स्पेशल प्रोजेक्ट्स) सुमैरा खान ने एक कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को सशक्त बनाने और महिलाओं के सशक्तिकरण के विचारों को समझने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि महिलाओं को श्रेष्ठ बनाने के लिए उन्हें मौका देने की जरूरत है और ऐसा बहुआयामी रणनीति के आधार पर हो सकता है, जिसमें सबसे पहले और बहुत ही जरूरी चीज है कि महिलाओं के लिए रिजर्वेशन बिल पास हो, उन्हें ज्यादा से ज्यादा स्कॉलरशिप दी जाए, उन्हें शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित किया जाए ताकि वे अपनी फील्ड में आगे बढ़ सकें और महारथ हासिल कर सके।

कार्यक्रम '2nd लेडी सम्मिट' का आयोजन महिला दिवस के मौके पर इंस्टिट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउंटेंट्स ऑफ    इंडिया और नॉर्थर्न इंडिया रीजनल कांउसिल के द्वारा किया गया था। यह आयोजन नई दिल्ली के इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर में हुआ था। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर सुमैरा खान के अतिरिक्त पूर्वी दिल्ली की मेयर नीमा भगत और इंस्टिट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के प्रेजिडेंट सीएमए संजय गुप्ता शामिल रहे।

कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में सुमैरा खान ने कहा कि ये हकीकत है कि हम अगर सिर्फ ऐसे ही भाषण देते रहेंगे तो भी हम अपनी आधी आबादी को अगली सेंचुरी तक सशक्त नहीं बना पाएंगे। उन्होंने कहा कि हमें महिला दिवस जरूर मनाना चाहिए, क्योंकि हर महिला का सम्मान होना जरूरी है और ऐसा एक दिन ही नहीं बल्कि हर दिन होना चाहिए। लेकिन कहना चाहूंगी कि महिला दिवस को हमें ये सोचते हुए एक चुनौती क रूप में भी लेना चाहिए ताकि हम उन महिलाओं के लिए कुछ कर सके, जिन्हें बहुत ज्यादा सशक्त होने  की जरूरत है।

वैसे तो दोनों ही पहलुओं पर जोर देने की जरूरत है, क्योंकि उन महिलाओं को भी और सशक्त बनाना चाहिए, जो पहले से ही शिक्षित है, जॉब करती हैं, क्योंकि वे बहुत सारी दिक्कतों की वजह से अपनी क्षमताओं का पूरी तरह से इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं। उनके सामने परिवार संभालने का दबाब भी रहता है और उन्हें पारिवारिक जिम्मेदारियों के साथ काम-काज में सामंजस्य बैठानी की जरूरत है। उन्हें हमेशा ही कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। फिर चाहे वह अपनी वर्किंग लाइफ में खुद को श्रेष्ठ साबित करना हो, या फिर बहुत सारी बंदिशों को तोड़कर आगे बढ़ना हो। लेकिन इन सबसे ज्यादा चुनौतियों तो उन महिलाओं के सामने हैं, जिनके पास तो अभी तक ताकत ही नहीं पहुंची है, जिनके पास एजुकेशन नहीं पहुंची है, जिन्हें अभी तक आर्थिक स्वतंत्रता नहीं मिली है। हमें उनके लिए सोचने की जरूरत है।

इस अवसर पर पूर्वी दिल्ली की मेयर नीमा भगत ने कहा कि नागरिक होने के नाते आपका स्वेच्छा कार्य करने की होना बहुत ज़रूरी है।अगर आपकी इच्छा है तो आपके लक्ष्य ज़रूर पुरे होंगे। उन्होंने बताया कि घर की लेडी मेंबर्स आज क समय में  स्वच्छ भारत अभियान को बहुत ही विश्वसनीय तरीके से क्रियान्वय कर रही हैं।

कार्यक्रम के गेस्ट ऑफ़ ऑनर सीएमए संजय गुप्ता, प्रेजिडेंट-आइसीमए -सीमए ने कहा कि आज वैश्विक दौर में जब महिलाओं आगे जाने की बात होती है तो मुझे भी लगता है की वह पीछे नहीं है । आज हमारे इंस्टिट्यूट में सभी भारत में और विश्व में महिलाओं का सराहनीय योगदान है और वे बहुत अच्छी सेवाएं दे रही हैं। इस अवसर रप सीए मनीष मल्होत्रा ने कहा कि महिलाओं के आगे बढ़ने से ही समाज और देश संपन्न हो सकेगा। 

कार्यक्रम मैें सभी का स्वागत करते हुए सीमए एस के भट्ट , वाईस चिअरमन , एन आई र सी ने बताया की हम सभी रानी लक्ष्मी बाई जी के बलिदान को आज भी  याद करते हैं । कार्यक्रम का संचालन सीएमए दीपिका भुगरा प्रसाद ने किया।


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

 

Tags headlines


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com