Share this Post:
Font Size   16

DGP के फरमान पर मीडिया में बवाल...

Friday, 13 April, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

मध्यप्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ऋषि कुमार शुक्ला ने पुलिसकर्मियों को फरमान जारी किया है, जिसके बाद मीडिया में अब ये मामला तूल पकड़ने लगा है। दरअसल उन्होंने नसीहत दी है कि पुलिस अधिकारी और कर्मचारी प्रेस मीडिया से दूरी बनाएं रखे। बिना अनुमति प्रेस मीडिया से संबंध रखे जाते हैं तो यह अनुशासनहीनता की श्रेणी में आएगा और संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इसके पहले तीन अप्रैल को डीजीपी ने कलेक्टर और पुलिस अधिक्षकों के साथ की विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी मीडिया से दूरी बनाने के संकेत दिए थे।  

दरअसल भारत बंद के दौरान 2 अप्रैल को दलित संगठनों द्वारा की गई हिंसा को रोकने में नाकाम रही पुलिस अब मीडिया पर इस वजह से शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है, क्योंकि उनका मानना है कि मीडिया और सोशल मीडिया में चले मैसेज के कारण ही हिंसा भड़की।

इतना ही नहीं डीजीपी ने सोशल मीडिया पर सेल्फी, फोटो, विचार और प्रतिक्रिया डालने पर पुलिसकर्मियों से परहेज बरतने की बात कही है।  

डीजीपी का ये फरमान वायरल होने के बाद पुलिस महानिरीक्षक मकरंद देउस्कर ने सफाई भी दी कि भ्रम की स्थिति न बने, इसलिए यह निर्देश दिए गए हैं। पुलिस महानिदेशक ने अपनी नसीहतों में स्पष्ट कहा है कि यह देखने में आ रहा है कि पुलिस जैसे अनुशासित विभाग में रहकर भी अधिकारी/कर्मचारी विभिन्न मुद्दों पर सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर अविवेकपूर्ण टिप्पणी कर रहे हैं। उन्होंने जिक्र किया कि कतिपय पुलिस अफसरों ने फेसबुक, वॉट्सऐप, टि्वटर, इंस्टाग्राम, यू-ट्यूब और ब्लॉग सहित सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर अनुचित, अमर्यादित और आपत्तिजनक सामग्री अथवा टिप्पणी पोस्ट की हैं। इनकी वजह से उन पर अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की गई है। 


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Tags headlines


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2017 samachar4media.com