Share this Post:
Font Size   16

आपकी टीम आपके लिए किस्मत के दरवाजे खोलती है: अरनब गोस्वामी, REPUBLIC TV

Friday, 19 January, 2018

समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

हमारी सहयोगी मैगजीन ‘इंपैक्ट’ (IMPACT) अपनी 13वीं वर्षगांठ मना रही है। इस उपलब्धि को सेलिब्रेट करने के लिए मैगजीन ने अपना एनिवर्सिरी स्पेशल अंक जारी किया है। ‘द गुड लक इश्यू्’ (The GOOD LUCK Issue) थीम वाले इस अंक में तमाम दिग्गजों ने भाग्य को लेकर अपने दृष्टिकोण से रूबरू कराया है।

आइए मिलते हैं मीडिया जगत की ऐसी चुनिंदा हस्तियों से जिन्होंने अपने नाम का डंका बजा रखा है। इन लोगों ने हमारे साथ अपनी कामयाबी के कुछ राज भी शेयर किए हैं...

अरनब गोस्वामी 

मैं हमेशा भाग्य में विश्वास रखता हूं। हम अपने नए वेंचर ‘रिपब्लिक टीवी’ (Republic TV) के लिए मुंबई में ऑफिस की तलाश कर रहे थे। मैं सही जगह की तलाश में कई जगह घूमा। आखिरकार मैंने अच्छी जगह मिलने की उम्मीद छोड़ दी थीतभी मेरे मित्र ने इस जगह के बारे में बताया (जहां से आज मैं इसका संचालन करता हूं)।

यह जगह एक बेकार पड़ी मिल थीजिसका वर्षों से कोई इस्तेमाल नहीं हो रहा था। लोअर परेल में हार्ड रॉक कैफे के सामने इस जगह का मिलना वाकई किस्मत की बात थी। मैं इस बात में भी यकीन रखता हूं कि आपकी टीम आपके लिए किस्मत के दरवाजे खोलती है। यदि आपकी टीम खुश और शांत है तो समझिए कि आप काफी भाग्यशाली हैं और मैं किस्मतवाला हूं कि मुझे इतनी अच्छी  टीम मिली है।

मेरे लिए इससे बड़ी बात और क्या होगी कि इस टीम में मेरे कुछ खास मित्र और सहयोगी भी शामिल हैं। मेरे सीईओ विकास खेमचंदानी मेरे लिए दोस्त और पार्टनर ज्यादा हैं। इनके साथ काम करके काफी अच्छा लगता है और ऐसा लगता है कि अभी हमने शुरुआत की है। हाल ही में हमने डिजिटल में प्रवेश किया है और इंटरनेशनल होने जा रहे हैं। यही नहींहम रोजाना कुछ न कुछ नया कर रहे हैं।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Tags headlines


पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com