Share this Post:
Font Size   16

All India Radio में खाली हैं हजारों पद, DD में भी वैकेंसी...

Published At: Tuesday, 05 February, 2019 Last Modified: Wednesday, 06 February, 2019

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

देश की पब्लिक ब्रॉडकास्ट कंपनी ‘प्रसार भारती’ लंबे समय से  कर्मचारियों की कमी से जूझ रही है। यहां कार्यरत कई कर्मचारियों के लंबे समय से प्रमोशन नहीं हुए हैं, वहीं काफी समय से युवाओं की भर्ती भी नहीं की गई है। आखिरी बार यहां वर्ष 1996 में भर्ती कार्यक्रम आयोजित हुआ था।

ऐसे में सूचना-प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी सोमवार को राज्यसभा में दिए गए एक जवाब में कर्मचारियों की कमी की बात को स्वीकार किया है। दरअसल, एक सवाल के लिखित जवाब में राठौड़ ने सदन को जानकारी दी कि दिल्ली में आकाशवाणी में रिक्तियों की संख्या 2038 है। इसके अलावा दूरदर्शन में भी 487 पद खाली पड़े हुए हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि दिसंबर 2016 तक की स्थिति के अनुसार महाराष्ट्र और तमिलनाडु में आकाशवाणी में रिक्तियों की संख्या क्रमश: 1378 और 904 है।

गौरतलब है कि प्रसार भारती के संस्थागत ढांचे की समीक्षा के लिए सूचना-प्रसारण मंत्रालय द्वारा 29 जनवरी 2013 को विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया था। समिति की अध्यक्षता जन सूचना, आधारभूत ढांचे और नवाचार मामलों में तत्कालीन प्रधानमंत्री के सलाहकार सैम पित्रोदा द्वारा की गई थी। समिति ने 25 जनवरी 2014 को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की थी। समिति की रिपोर्ट में कहा गया था कि अन्‍य देशों के पब्लिक ब्रॉडकास्‍टर्स की तुलना में यहां पर वर्कफोर्स काफी ज्‍यादा है। इसके अलावा प्रसार भारती में मैन पॉवर का ऑडिट कराने की सिफारिश भी की गई थी,  ताकि पता चल सके कि यहां पर स्‍टाफ की क्‍या स्थिति है और कितने स्‍टाफ की जरूरत है।



पोल

सोशल मीडिया पर पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है, क्या है आपका मानना?

पत्रकार भी दूध के धुले नहीं हैं, उनकी भी जवाबदेही होनी चाहिए

ये पेड आईटी सेल द्वारा पत्रकारिता को बदनाम करने की साजिश है

Copyright © 2019 samachar4media.com