Share this Post:
Font Size   16

लॉन्चिंग की शुरुआत में ही अरनब गोस्वामी के चैनल को मिली ‘अच्छी खबर’

Published At: Friday, 15 February, 2019 Last Modified: Friday, 15 February, 2019

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

वरिष्ठ पत्रकार अरनब गोस्वामी का हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ (republic bharat) दो फरवरी को अपनी लॉन्चिंग के बाद से ही मार्केट में छाया हुआ है। चैनल की बढ़ती लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पहले हफ्ते में ही इस चैनल के खाते में 73 मिलियन इंप्रेशंस दर्ज किए गए हैं। चैनल के एडिटर-इन-चीफ अरनब गोस्वामी का शाम सात बजे आने वाला शो ‘पूछता है भारत’ (Poochta Hai Bharat) इस जॉनर में सबसे आगे पहुंच गया है और लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं।

अपनी लॉन्चिंग के बाद से ‘रिपब्लिक भारत’ ने ममता बनर्जी-सीबीआई के बीच टकराव (#MamtaBlocksCBI) और शारदा चिटफंड (#ShardaStings) जैसी बड़ी स्टोरी पर फोकस किया है। इस वजह से चैनल को न सिर्फ सोशल मीडिया पर इंप्रेशंस मिले हैं, बल्कि यह पश्चिम बंगाल में नंबर दो की पोजीशन पर पहुंच गया है। अरनब गोस्वामी का कहना है, ‘यह एक बहुत ही शानदार शुरुआत है। अपनी लॉन्चिंग के पहले हफ्ते में ही रिपब्लिक भारत सात करोड़ से ज्यादा लोगों तक अपनी पहुंच बना चुका है।’

इस बारे में ‘आईपीजी मीडिया ब्रैंड्स’ (IPG Mediabrands) के सीईओ शशि सिन्‍हा का कहना है, ‘लॉन्चिंग के पहले ही हफ्ते में 73 मिलियन लोगों तक पहुंच बनाने के लिए रिपब्लिक की टीम ने काफी कड़ी मेहनत की है। यह काफी अच्छी शुरुआत है और चूंकि चुनाव आने वाले हैं, ऐसे मे चैनल को अपनी पहुंच बढ़ाने और मार्केट शेयर बढ़ाने का अच्छा अवसर मिलेगा। हिंदी जॉनर में छह साल के गैप के बाद किसी मजबूत ब्रैंड की एंट्री हुई है।’

वहीं, ‘रिपब्लिक नेटवर्क’ के सीईओ विकास खनचंदानी का कहना है, ‘हम इस बात से बहुत खुश हैं कि रिपब्लिक भारत ने शुरुआती हफ्ते में 73 मिलियन लोगों तक अपनी पहुंच बना ली है। हमारी डिस्टीब्यूशन और कंटेंट टीम ने इसके लिए कड़ी मेहनत की है। मुझे पूरा विश्वास है कि इस तरह की शुरुआत हमारी उम्मीद से ज्यादा तेजी से चैनल को टॉप स्लॉट में ले जाएगी। हिंदी न्यूज कैटेगरी में इतना सपोर्ट करने के लिए मैं दर्शकों के साथ ही अपने पार्टनर्स का तहे दिल से शुक्रगुजार हूं।’



पोल

पुलवामा में आतंकी हमले के बाद हुई मीडिया रिपोर्टिंग को लेकर क्या है आपका मानना?

कुछ मीडिया संस्थानों ने मनमानी रिपोर्टिंग कर बेवजह तनाव फैलाने का काम किया

ऐसे माहौल में मीडिया की इस तरह की प्रतिक्रिया स्वाभाविक है और यह गलत नहीं है

भारतीय मीडिया ने समझदारी का परिचय दिया और इसकी रिपोर्टिंग एकदम संतुलित थी

Copyright © 2019 samachar4media.com