Share this Post:
Font Size   16

एम.जे. अकबर के दावों पर एडिटर ने इस तरह किया पलटवार

Published At: Sunday, 04 November, 2018 Last Modified: Sunday, 04 November, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद एम.जे. अकबर के उन दावों पर नैशनल पब्लिक रेडियो (NPR)  की चीफ बिजनेस एडिटर पल्लवी गोगोई ने पलटवार किया है, जिसमें अकबर ने दुष्कर्म के आरोपों को गलत बताते हुए कहा है कि दोनों के बीच आपसी सहमति से संबंध बने थे।  

अमेरिका में रहने वाली पत्रकार पल्लवी गोगोई का कहना है कि यह संबंध 'जबरदस्ती और शक्ति के दुरुपयोग' पर आधारित था न कि सहमति से और वह  वह वाशिंगटन पोस्ट अखबार में अपने हवाले से छापे गए एक-एक शब्द पर अडिग हैं।

गोगोई का यह भी कहना है कि वह सच बोलना जारी रखेंगी, जिससे अकबर द्वारा यौन उत्पीड़न का शिकार हुई दूसरी महिलाएं समझ सकें कि उनके लिए सामने आकर सच बयान करने में कोई बुरी बात नहीं है।

गोगोई का आरोप था कि जब वे 23 साल पहले 'एशियन एज' में काम करती थीं, तब संपादक रहे अकबर ने उनका रेप किया। पल्लवी गोगोई का यह बयान वॉशिंगटन पोस्ट में प्रकाशित हुआ है। यह घटना 1994 की है। गोगोई ने अपने लेख में अपनी 'सबसे दर्दनाक यादें' लिखते हुए कहा था कि वह 'भावनात्मक, शारीरिक और मानसिक रूप से बिखर' गई थीं।



वहीं दूसरी तरफ, अपने ऊपर लगे इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए अकबर का कहना था, 'पल्लवी साफ तौर पर झूठ बोल रही हैं।' अकबर का यह भी कहना था कि साल 1994 के आस-पास उनके बीच जो कुछ हुआ, वह आपसी सहमति से था और संबंधों का यह दौर कुछ महीनों तक चला। अकबर ने ये भी कहा था कि इस रिश्ते का बुरा असर उनके पारिवारिक जीवन पर भी पड़ा।

बता दें कि #MeToo  के तहत अकबर पर कई महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए, जिसके बाद उन्हें मोदी कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा। एमजे अकबर ने अपनी सफाई देने के बाद कानूनी रास्ता अपनाया है। उन्होंने झूठे आरोपों की बात कह केस दर्ज कराया है। अकबर पर पहला आरोप प्रिया रमानी नाम की वरिष्ठ पत्रकार ने लगाया था।



पोल

पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार कानून बनाने जा रही है, इस पर क्या है आपका मानना

सिर्फ कानून बनाने से कुछ नहीं होगा, कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो

अन्य राज्य सरकारों को भी इस दिशा में कदम उठाने चाहिए

सरकार के इस कदम से पत्रकारों पर हमले की घटनाएं रुकेंगी

Copyright © 2019 samachar4media.com