News24 के वायरल सच को चौथी दुनिया की चुनौती News24 के वायरल सच को चौथी दुनिया की चुनौती

News24 के वायरल सच को चौथी दुनिया की चुनौती

Thursday, 11 January, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

राष्ट्रीय परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत केद्र सरकार ने जुलाई 2017 में ‘मिशन परिवार विकास’ के नाम से जो अभियान शुरू किया, वो अब विवादों में है। चौथी दुनिया में छपी एक रिपोर्ट में इस अभियान को मोदी सरकार का खतराक नसंबदी अभियान बताया गया है। सोशल मीडिया पर चौथी दुनिया की यह रिपोर्ट तेजी से वायरल हो रही है और हो भी क्यों न ये देश की महिलाओं के स्वास्थ्य से जो जुड़ी है।

वायरल होती इस रिपोर्ट को हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज24’ ने अपने कार्यक्रम ‘सच या झूठ’ में भी उठाया, लेकिन चैनल ने अपनी तहकीकात में इस रिपोर्ट को ‘झूठा’ साबित कर दिया। इस रिपोर्ट पर उन्होंने सबसे पहले चौथी दुनिया के प्रधान संपादक संतोष भारतीय की राय ली, जो अपने दावे पर कायम रहे। इसके बाद उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे का बयान लिया, जिन्होंने ये तो माना कि दवा के साइड इफैक्ट हो सकते हैं लेकिन उन्होंने ये नहीं बताया कि इस दवा के क्या साइड इफैकट्स हो सकते हैं। उन्होंने इस तरह की खबरों को ही खारिज कर दिया।

इसके बाद चैनल ने सर गंगाराम हॉस्पिटल की जानी-मानी गायनोलॉजिस्ट माला श्रीवास्तव की राय जाननी चाही। उन्होंने इस दवा के बारे में विस्तार से चैनल को जानकारी दी और ‘डिम्पा’ इंजेक्शन को परिवार नियोजन का अस्थाई तरीका बताया। इतना ही नहीं उन्होंने इसे उन महिलाओं के लिए तो बहुत ही अच्छा बताया, जो डिलिवरी के बाद अपने बच्चों को स्तनपान कराती हैं। लिहाजा, सभी तथ्यों के बाद न्यूज24 ने इस रिपोर्ट का 'झूठा' साबित कर दिया।

हालांकि, इस रिपोर्ट को ‘न्यूज24’ द्वारा झूठा साबित किए जाने के बाद चौथी दुनिया की ओर से एक विडियो जारी किया गया और इसमें ‘न्यूज24’ को चुनौती दी गई कि चैनल ने अपनी इस तहकीकात में जो सवाल उठाए थे, उसे न तो वो जवाब मिले और न ही पूरी तहकीकात की, क्योंकि गूगल पर ही इस दवा के कई तरह के साइड इफैक्ट की खबरें मिल जाएंगी। सिर्फ एक गायनालॉजिस्ट के जवाब से ही संतुष्ट होकर न्यूज24 ने अखबार की पांच महीने की तहकीकात को झूठा साबित कर दिया। चौथी दुनिया ने दावा किया वह अपने अगले अंक में उन सभी सवालों का तथ्यों के साथ जवाब भी देगी और कई अन्य विशेषज्ञों से बात करके विस्तार इस जहर के बारे में बताएगी भी।

अखबार के प्रधान संपादक संतोष भारतीय ने कहा कि ‘न्यूज24’ ने सिर्फ एक गायनोलॉजिस्ट बात करके निष्कर्ष पर पहुंच गए, तो उनकी अगली रिपोर्ट को भी अपने शो में शामिल करें, क्योंकि वे न्यूज24 द्वारा उठाए गए सभी सवालों के जवाब अपनी रिपोर्ट में देंगे, जो अभी तक चैनल ढूंढ नहीं सका है। 

गौरतलब है कि इस अधियान के तहत चौथी दुनिया ने दावा किया है कि उत्तर प्रदेश समेत बिहारझारखंडअसम,मध्यप्रदेशछत्तीसगढ़ और राजस्थान के 145 जिलों के जिला अस्पतालोंसामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के जरिए महिलाओं को ‘डिपो मेडरॉक्सी प्रोजेस्टेरोन एक्सीटेट’ (डीएमपीए) इंजेक्शन अनिवार्य रूप से दिया जा रहा है। लेकिन यह दवा महिलाओं के लिए विनाशकारी साबित हो रही है।

चौथी दुनिया ने दावा किया है कि यह दवा कई देशों में खूंखार यौन अपराधियों की यौन-ग्रंथी नष्ट करने के लिए सजा के तौर इंजेक्ट की जाती है।

देखें विडियो-

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या संजय लीला भंसाली द्वारा कुछ पत्रकारों को पद्मावती फिल्म दिखाना उचित है?

हां

नहीं

Copyright © 2017 samachar4media.com