Share this Post:
Font Size   16

आर्थिक उथल-पुथल के बीच HT मीडिया ने दिखाया अपना दम

Published At: Tuesday, 23 May, 2017 Last Modified: Tuesday, 23 May, 2017


 समाचार4मी‍डिया ब्यूरो ।।

एचटी मीडिया’ (HT Media) के बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर्स ने 19 मई को हुई आम वार्षिक बैठक (annual general meeting) में 31 मार्च को समाप्‍त हुए वित्‍तीय वर्ष के परिणामों को मंजूरी दे दी है। हालांकि नोटबंदी (demonetisation) के बाद से पूरी मीडिया इंडस्‍ट्री की आर्थिक स्थिति पर काफी असर पड़ालेकिन इस वित्‍तीय उथल-पुथल के बावजूद एचटी मीडिया अपने बिजनेस ऑपरेशंस को बड़े पैमाने पर बचाने में कामयाब रहा।

सबसे अच्‍छी बात यह रही कि रेवेन्‍यू में मामलूी बढ़त (0.8%) के साथ ही कंपनी का प्रॉफिट एबिटा (EBITDA Earnings Before Interest, Tax, Depreciation and Amortization)  10.2 प्रतिशत बढ़कर 527.76 करोड़ रुपये हो गया। हालांकि प्रॉफिट आफ्टर टैक्‍स (PAT) में 1.9 प्रतिशत की गिरावट के साथ ही यह 170.25 करोड़ रुपये रह गया।

रेवेन्‍यू ग्रोथ : वित्‍तीय वर्ष 2017 (FY17) में एचटी मीडिया के रेवेन्‍यू में मामूली वृद्धि हुई और यह  2,657.7 करोड़ से बढ़कर 2,681.55 करोड़ रुपये हो गया। यदि देखा जाए तो इस कंपनी के ऐडवर्टाइजमेंट रेवेन्‍यू में 3.5 प्रतिशत की कमी देखने को मिली। ऐसे में यह 2000 करोड़ रुपये का टार्गेट हासिल नहीं कर पाया और 1,982.5 करोड़ रुपये से खिसककर 1,913.1  करोड़ रुपये पर आ गया।

इस गिरावट के लिए नोटबंदी को जिम्‍मेदार बताते हुए एचटी मीडिया द्वारा स्‍टॉक एक्‍सचेंज में जमा कराए गए दस्‍तावेजों में बताया गया कि वे इस साल के शुरू में ‘व्यापक रेंज लागत पुनर्गठन कवायद ’(wide-ranging cost restructuring exercise)  के कारण संकट को झेलने में कामयाब रहे।

ऐडवर्टाइ‍जमेंट रेवेन्‍यू में गिरावट के बावजूद कंपनी का सर्कुलेशन रेवेन्‍यू 1.6 प्रतिशत बढ़कर 299.4 करोड़ रुपये से 304.2 करोड़ रुपये हो गया। सबसे महत्‍वपूर्ण बात यह है कि अन्‍य रेवेन्‍यू भी दो अंकों में ग्रोथ पाने में कामयाब रहे और 23.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 375.8 करोड़ से 464.3 करोड़ रुपये पर पहुंच गए।

सेगमेंट आधारित प्रदर्शन (Segment-wise performance)

प्रिंटिंग और पब्लिशिंग बिजनेस एचटी मीडिया के वित्‍तीय कार्यों (financial operations) की ताकत (backbone) बना रहा। इस सेगमेंट ने रेवेन्‍यू में सबसे ज्‍यादा योगदान (2,132.5 करोड़ रुपये) का दिया। इस सेगमेंट में इस साल 4.89 प्रतिशत की गिरावट आई हैजबकि पिछले वित्‍तीय वर्ष (FY16) में यह 2,242.35  करोड़ रुपये था। इसके अलावा रेडियो ब्रॉडकास्‍ट और ऐंटरटेनमेंट ऑपरेशंस से प्राप्‍त रेवेन्‍यू में बढ़ोतरी हुई है और यह 116.96  करोड़ रुपये से बढ़कर 158.71करोड़ रुपये पर पहुंच गया है।

यदि एचटी मीडिया के डिजिटल बिजनेस की बात करें तो यह 150 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का हो गया। पहले जहां यह 140.33  करोड़ रुपये थावह बढ़कर 151.36 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। हाल ही में तैयार किए मल्‍टीमीडिया कंटेंट मैनेजमेंट सेगमेंट में जहां पर कंटेंट देने के लिए दूसरे सेगमेंट से फीस वसूली जाती हैवह रेवेन्‍यू के तौर पर 194.55 करोड़ रुपये जुटाने में कामयाब रहा।

किया गया खर्च

वित्‍तीय वर्ष 2017 की समाप्ति तक एचटी मीडिया का कुल खर्च  2,373.67 करो़ड़ रुपये पर पहुंच गया जबकि पिछले वित्‍तीय वर्ष में यह 2,343.63 करोड़ रुपये था। इस साल रॉ मैटीरियल (raw materials) पर किया गया खर्च हालांकि 3.7 प्रतिशत घटाकर 722.95 करोड़ रुपये से 696.48 करोड़ रुपये तक किया गया था।

इस साल कर्मचारियों पर किए गए व्‍यय में काफी बढ़ोतरी हुई है। पिछले साल 548.69 करोड़ रुपये के मुकाबले इस साल यह बढ़कर 583.53 करोड़ रुपये हो गया। वहीं वित्‍तीय लागत और मूल्यह्रास/ऋणमुक्ति पर किया गया खर्च क्रमश: 95.12 करोड़ और 124.76 करोड़ रुपये रहा।

लाभ/हानि (Profit/loss positioning)

वित्‍तीय वर्ष 2017 में कंपनी का एबिटा (EBITDA Earnings Before Interest, Tax, Depreciation and Amortization)पिछली बार की तरह फायदे में रहा हालांकि प्रॉफिट आफ्टर टैक्‍स (PAT) में गिरावट दर्ज की गई। वित्‍तीय वर्ष 2016 की बात करें तो प्रॉफिट एबिटा 478.93 करोड़ रुपये थाजो वित्‍तीय वर्ष 2017 में दस प्रतिशत बढ़कर 527.76  करोड़ रुपये हो गया। एबिटा मार्जिन में भी वृद्धि हुई और यह 18 प्रतिशत से बढ़कर 19.7 प्रतिशत हो गया। लेकिन प्रॉफिट आफ्टर टैक्‍स (PAT) 6.5 प्रतिशत से घटकर 6.3 प्रतिशत रह गया।

वित्‍तीय वर्ष 2017 में एचटी मीडिया के PAT में 1.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है और यह 173.49 करोड़ रुपये से घटकर 170.25 रुपये रह गया। यदि सेगमेंट के नजरिये से देखें तो प्रिंटिंग और पब्लिशिंग बिजनेस से हुआ प्रॉफिट 331.06 करोड़ रुपये से घटकर 240.85 करोड़ रुपये रह गया है। रेडियो ब्रॉडकास्‍ट बिजनेस के प्रॉफिट में भी गिरावट आई है और 20.04 करोड़ से घटकर 10.31 करोड़ रुपये रह गया है।

हालांकि मल्‍टीमीडिया कंटेंट मैनेजमेंट सेगमेंट फायदे में रहा जबकि डिजिटल ऑपरेशंस से घाटा घट गया और 65.33 करोड़ से घटकर 38.91 करोड़ रुपये रह गया। कम समय में खर्चों पर नियंत्रण रखने के उद्देश्‍य से एचटी मीडिया ने अपने प्रिंट के शीर्ष लाइन और निकट भविष्‍य में डिजिटल बिजनेस में सुधार लाने का लक्ष्‍य निर्धारित किया है।

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।



पोल

‘नेटफ्लिक्स’ और ‘हॉटस्टार’ जैसे प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करने की मांग को लेकर क्या है आपका मानना?

सरकार को इस दिशा में तुरंत कदम उठाने चाहिए

इन पर अश्लील कंटेट प्रसारित करने के आरोप सही हैं

आज के दौर में ऐसे प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करना बहुत मुश्किल है

Copyright © 2018 samachar4media.com