Share this Post:
Font Size   16

इस विज्ञापन को लेकर 'आप' के विधायकों ने मुख्य सचिव की कर दी पिटाई...

Thursday, 22 February, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

दिल्ली पर अधिकार को लेकर उपराज्यपाल और अधिकारियों के साथ चल रही केजरीवाल सरकार की जुबानी जंग अब मारपीट तक पहुंच गई है। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया है कि सोमवार रात सीएम अरविंद केजरीवाल के सामने आप के दो विधायकों ने उनके साथ मारपीट की और गालियां दीं। पुलिस ने विधायक अमानतुल्लाह सहित अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। मुख्य सचिव के साथ मारपीट पर भड़के दिल्ली सचिवालय के कर्मचारियों ने मंगलवार दोपहर दिल्ली के पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन और उनके पीएस हिमांशु सिंह को घेर लिया। इनके साथ मारपीट और धक्का-मुक्की का एक विडियो भी सामने आया है। हालांकि पूरे मामले को लेकर हिंदी अखबार ‘दैनिक भास्कर’ ने अपनी एक रिपोर्ट प्रकाशित की, जिसमें विवाद की जड़ को विस्तार से बताया गया है।

विवाद की जड़

दैनिक भास्कर ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि इस विवाद की जड़ एक विज्ञापन था। दरअसल अंशु प्रकाश का आरोप है कि उन पर आप के एक विज्ञापन को पास कराने का दबाब डाला गया और मना करने पर उनके साथ मारपीट की गई।

केजरीवाल सरकार का विज्ञापन

तीन साल पूरे होने पर दिल्ली सरकार ने अपनी उपलब्धियों का विज्ञापन बनाया था। इस विडियो विज्ञापन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि दिल्ली में तीन वर्षों में दिल्ली में भ्रष्टाचार में भारी कमी आई है। अब एक एक पैसा जनता के विकास पर खर्च हो रहा है। बाधाएं बहुत आई हैंपर आपके हक के लिए हम हर कठिनाई से लड़े। ईश्वर ने हर कदम पर साथ दिया। इस विडियो विज्ञापन की आखिरी लाइन में केजरीवाल कहते हैं, ‘जब आप सच्चाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं तो ब्रह्मांड की सारी दृश्य और अदृश्य शक्तियां मदद करती हैं।’ अधिकारियों ने इसी आखिरी लाइन को सर्टिफाई करने से इनकार कर दिया। सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि राज्य सरकारों के विज्ञापनों के दावों को संबंधित विभागों द्वारा सर्टिफाई करवाया जाए। यहां सवाल यह था कि आखिर ब्रह्मांड की दृश्य, अदृश्य शक्तियां किस विभाग के तहत आती है। ऐसे में दिल्ली सरकार के अफसरों को यह वजह साफ नहीं हो रही थी कि सरकार का कौन सा विभाग इस लाइन को क्लीयर करेगा।        

मुख्य सचिव ने कहा- सरकार के तीन साल पूरे होने का एड क्यों अटका हैइस पर बात करने के लिए देर रात बुलाया क्योंकि एड की एक लाइन किस विभाग को पास करनी हैये तय नहीं हो पा रहा है।  

कोई इमरजेंसी नहीं थी तो रात 12 बजे कैसी बैठक

ऐसी घटना पहले कभी नहीं सुनी। रात 12 बजे मुख्यमंत्रीउपमुख्यमंत्री कोई बैठक विधायकों की मौजूदगी में करेंऐसा कोई आपातकाल नहीं आया। कभी 1971 की लड़ाई में ऐसा हुआ होगा। मैं कभी ऐसी किसी बैठक में शामिल नहीं हुआ। मामला राशन वितरण का ही था तो खाद्य मंत्री या खाद्य आपूर्ति सचिव क्यों नहीं थे।- ओमेश सहगलदिल्ली के पूर्व मुख्य सचिव



समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com