Share this Post:
Font Size   16

TOI लिटफेस्ट से इस ट्वीट के बाद बाबा रामदेव हुए निराश...

Published At: Monday, 04 December, 2017 Last Modified: Monday, 04 December, 2017

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

25 और 26 नवम्बर को हुआ था दिल्ली में टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप का टाइम्स लिटफेस्ट यानी लिटरेचर फेस्टिवल। इसमें हर फील्ड की तमाम चर्चित हस्तियों ने भाग लिया, तो बाबा रामदेव को भी एक सेशन में बुलाया गया। सब कुछ अच्छा गुजरा लेकिन अब बाबा रामदेव हो गए हैं नाराजऔर वजह बना है एक पान मसाला ब्रैंड।


अगर आप इस खबर के साथ लगा ये फोटो देखेंगे तो आपको तस्वीर साफ हो जाएगी। बाबा टाइम्स लिटफेस्ट के मंच से लोगों का अभिवादन स्वीकार कर रहे हैं और उनके ठीक पीछे के परदे पर नजर आ रहा है पानमसाला रजनीगंधा का बड़ा सा एडजिसकी टैग लाइन है- कदमों में दुनिया। जाहिर था मीडिया का इवेंट था और बड़ा ही प्रतिष्ठित मीडिया कंपनी काइतनी हस्तियां आईं थींतो बाबा को सम्मान ही महसूस हुआ लेकिन एक बंदे की ट्वीट ने बाबा का मन खिन्न कर दिया।

उस बंदे की ट्वीट पढने से पहले जानिए कि बाबा ने अपनी ट्विटर वॉल पर जब ये फोटो लगाया तो साथ में क्या लिखा थाबाबा ने लिखा था--  "When people talk about saving dogs, donkeys & tigers, it's seen as a humanitarian work but when someone wants to save cows, why is he called communal?"

बाबा की बात में तो दम था लेकिन एक बंदे गिरीश चंद्र खुल्बे ने इसके जवाब में एक ट्वीट कर दिया। वो ट्वीट भी पढ़िए- बाबा जीबातें तो बड़ी अच्छी कर लेते हो! ज़रा अपने पीछे देखो आप खुलेआम पान मसाले का प्रचार कर रहे हो...आपको पान मसाले वाला प्रणाम।

इस ट्वीट से बाबा को लगा कि बात तो सही हैकल को मीडिया भले ही ना इश्यू उठाएउनके और उनके ब्रैंड के दुश्मन तो इस फोटो गलत इस्तेमाल कर ही सकते हैं तो बाबा ने उस बंदे को एक रिप्लाई किया,. वो रिप्लाई ट्वीट था

 

इतना ही नहीं बाबा के राइट हैंड आचार्य बालकृष्ण ने भी फौरन बाबा को सपोर्ट करते हुए बाबा के ट्वीट पर एक ट्वीट कर डालाFully agreed with @yogrishiramdev’। पर टाइम्स ऑफ इंडिया भी क्या करेरजनीगंधा का ऐड हर जगह टाइम्स ऑफ इंडिया के नाम से भी ऊपर ही लिखा हैजाहिर है वो इस कार्यक्रम का प्रमुख आयोजक रहा होगा। 

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 



पोल

पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार कानून बनाने जा रही है, इस पर क्या है आपका मानना

सिर्फ कानून बनाने से कुछ नहीं होगा, कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो

अन्य राज्य सरकारों को भी इस दिशा में कदम उठाने चाहिए

सरकार के इस कदम से पत्रकारों पर हमले की घटनाएं रुकेंगी

Copyright © 2019 samachar4media.com